कर्नलगंज कोतवाल की नजर में 67 वर्षीय वृद्ध बेवा महिला बन गई अत्याचारी

उत्तर प्रदेश कानपुर राज्य शहर
सच दिखाने की जिद...

वृद्ध 67 वर्षीय बेवा महिला का कर्नलगंज पुलिस पर आरोप, पुलिस जबरन बहू को छोटे से घर में दिलवाना चाहती है कमरा

जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। शहर में एक सनसनीखेज मामला बीते दिन सामने आया जहां पर पुलिस की नजर में अपने एक बेटे को तीस वर्ग गज के मकान में अपने संग लेकर रह रही 67 वर्षीय वृद्ध बेवा महिला अत्याचारी बनी हुई है। परंतु सबसे बड़ा सवाल कि 67 साल की उम्र में एक वृद्ध महिला जो बेवा है वह अत्याचारी कैसे हो सकती है?
शहर के थाना कर्नलगंज क्षेत्र स्थित छोटे मियां का हाता में रहने वाली 67 वर्षीय वृद्ध विधवा महिला अफसरजहां ने बताया कि उनके पति मोहम्मद उमर की मौत 8 वर्ष पूर्व हो चुकी है। छोटा बेटा मोहम्मद रिजवान उनके संग 30 गज के छोटे से मकान में रहता है और उनका भरण पोषण कर रहा है एक बेटा मोहम्मद इमरान हमेशा से ही विवाह कर लेने के बाद उनसे अलग रह रहा है। बड़े बेटे इरफान का निकाह 16 साल पहले आयशा नाम की लडक़ी से हुआ था। वह लगभग 16 साल से ही घर से बाहर रहता है। बड़े बेटे इरफान ने अपनी पहली पत्नी को चार साल पहले तलाक दे अफसाना नाम की महिला से निकाह कर लिया। पीडि़त विधवा महिला अफसर जहां का कहना है कि अब जबरन उसके छोटे से मकान में इरफान अपनी पत्नी अफसाना को लेकर रहना चाहता है परंतु वह नहीं रहने देना चाहती हैं जिसके लिए अफसाना उच्च अधिकारियों के पास शिकायत लेकर गई थी जिसके बाद थाने में वृद्ध महिला पर नाजायज दबाव बनाया गया है अफसाना को अपने संग रखने के लिए कुछ बातें अफसर जहां ने जिला संवाददाता को जब बताई तो वह लिखने लायक नहीं थी जिसे इस अखबार में नहीं लिखा जा रहा है जो आरोप पुलिस पर वृद्ध महिला ने लगाए हैं!

कोतवाल कर्नलगंज ने वृद्धा को बताया अत्याचारी

जन एक्सप्रेस जिला संवाददाता के जीवन में पहली बार एक ऐसा मामला सामने आया जब एक पुलिस वाले ने किसी 67 वर्षीय वृद्ध महिला को अत्याचारी बताया हो परंतु यह बात सच है। अफसर जहां द्वारा पुलिस पर लगाए गए आरोपों के क्रम में जब जन एक्सप्रेस जिला संवाददाता द्वारा कोतवाल कर्नलगंज से मामले में बात की गई तो सबसे पहले उन्होंने 67 वर्ष की बेवा महिला को ही अत्याचारी बता डाला और बहू के पक्ष में खड़े होकर यह कहते नजर आए कि वृद्ध महिला अपनी बहू को अपने घर में ना रहने दे कर गलत कर रही है। हालांकि कोतवाल साहब ने एक अधिकारी के लिए बताया कि उनके कहने पर ही वृद्ध महिला की बहू को न्याय दिलाने का काम पुलिस कर रही है।
शहर के सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से जन एक्सप्रेस का एक सवाल
जन एक्सप्रेस शहर के सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से जानना चाहता है कि कैसे एक 67 वर्षीय वृद्ध बेवा बीमार महिला पुलिस की नजर में अत्याचारी हो गई। जो लडक़ा 16 वर्ष से बाहर रहकर बेवा वृद्ध मां को एक रोटी का भी सहयोग नहीं कर रहा था। 4 साल पहले एक महिला से निकाह कर लेने के बाद अब गरीब बीमार बेवा हो चुकी वृद्ध मां के 30 वर्ग गज के छोटे से मकान में जबरन रहना चाहता है क्या यह सही है?

 


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *