यूपी सरकार के फिल्म बन्धु से बैन कराएंगे अश्लीलता फैलाने वाले भोजपुरी गायक-एक्टर: शशिनाथ दुबे

उत्तर प्रदेश टॉप न्यूज़ देश लखनऊ
सच दिखाने की जिद...

भोजपुरी एक्टर खेसारी लाल यादव ने पत्रकार तथा फि़ल्म मेकर शशिनाथ दुबे को रिकार्ड मैसेज भेजकर मीडिया से माफी मांगी, गाने, डांस व फि़ल्म में अश्लीलता फैलाने वालों का होता रहेगा विरोध
जन एक्सप्रेस संवाददाता
लखनऊ। अश्लीलता के खिलाफ चल रहे आंदोलन को भोजपुरी सिनेमा की बड़ी-बड़ी हस्तियां अपना समर्थन देने लगी हैं, पवन सिंह हों, मनोज पांडेय हों, देव सिंह हो या कोई भी सभी ने अश्लील गाने पर अपनी सफाई दी, राय दी। खेसारी लाल यादव  ने भी अपने बड़बोलेपन पर माफी मांगी तथा सफ़ाई दी। ज्ञात हो कि नीलकमल सिंह ने एक वायरल गाने में भोजपुरी की मशहूर अदाकारा के प्राइवेट पार्ट का नाम लेकर गाना कंपोज किया जिसमें पवन सिंह तथा खेसारी को लगा कर गाली वाला अश्लीलता भरा शब्द गाया था। ये गाना वायरल हो गया कोई बोलने के लिए तैयार नहीं, तब एकमात्र उत्तर प्रदेश फि़ल्म मेकर एसोसिएशन के शशिनाथ दुबे ने मुद्दा उठाया। बिहार सरकार तथा बिहार पुलिस पर दबाब बनाया तब जाकर काकड़बाग थाना पटना में नीलकमल सिंह तथा उनके चार-पांच अज्ञात लोगों पर मुकदमा लिखा गया। इसी समय पंकज सिंह नाम के नए गायक ने खेसारी के बेटी को टारगेट करके एक गाना गा दिया, इसके बाद तो भोजपुरी फि़ल्म जगत में भूचाल आ गया।
खेसारी ने एक फेसबुक लाईव आकर गंदे गाने वाले  के साथ धमकी भरे अंदाज में मीडिया को भी आड़े हाथ लिया था, इसके बाद इनके कुछ लोगो ने पंकज सिंह की लाईव दिखा कर पिटाई कर दी जबकि चाहिए था कि कानूनी कार्यवाही करते। इस सबका मुद्दा श्री दुबे ने प्रमुखता से उठाया। बिहार सरकार के उप मुख्यमंत्री से अश्लीलता के खि़लाफ़ कड़े कदम उठाने को कहा। इसके बाद उनका बयान आया, खेसारी का विरोध शुरू हो गया भोजपुरी में अश्लीलता फैलाने वाले चिन्हित हो रहे। यही नही शशि नाथ दुबे ने उत्तर प्रदेश में इन अश्लीलता फैलाने वाले एक्टर, सिंगर की फिल्में न चनले तथा शूटिंग पर  प्रतिबन्ध लगाने की मांग कर दी। भोजपुरी फि़ल्म जगत में खलबली मच गई, आखिर में खेसारी ने शशि नाथ दुबे से फोन पर मीडिया के मामले में माफी मांगी। इसमे उन्होंने  एक बात कहा कि उन्होंने किसी के बेटी का फोटो लगा कर गाना नही गाया।
जैसा सलमान की मुन्नी बदनाम हुई या मनोज तिवारी की रिंकिया के पापा, अन्य के लूलिया आदि का गाना है वैसे ही मेरा भी है। ये उदाहरण खेसारी ने दिया कहा कि कोई पहले एतराज नही हुआ लोगो को क्योंकि किसी की व्यक्तिगत फोटो नही लगाया गया था, पर उसने (पंकज) ने मेरी बेटी की फोटो गाने पर लगाई, साथ ही कहा खेसारी बहुत है कोई आये गाये कोई एतराज नही, पर किसी का फोटो लगाया तो इसका मतलब उसी को टारगेट कर गाया गया, साथ ही पंकज के पिटाई को दुर्भाग्य पूर्ण बताया कहा कि उनके समर्थक ने कर दिया ये गलत है।
खेसारी लाल यादव 
जारी रहेगा आंदोलन
फ़ेसबुक लाईव में मीडिया को धमकी देने के मामले में खेसारी लाल यादव ने कहाकि मैंने यूट्यूब के कुछ गलत लोग ,जो अनाप शनाप डाल देते है, उनको बोला सही मीडिया को नही। अगर किसी पत्रकार भाई को ठेस पहुँचा तो माफ़ी माँगते है, साथ ही कहा कि बेटी के गाने के मामले में स्टार खेसारी नही एक पिता आया था? बेटी वाले हर बाप मेरी पीड़ा समझेंगे, साथ ही कहा कि मीडिया या जनता को टारगेट करने का उनका मत नही, अगर किसी को बात लगी माफी मांगता हूं। खेसारी की बात भी सही है पर अश्लीलता पर शशि नाथ दुबे के प्रश्न-वादा करते हैकी अब दोअर्थी गाना नही गायेंगे इस पर वो  चुप्प हो गए तथा सीन आउट हो गए। इस मुद्दे पर शशिनाथ दुबे ने कहा कि एकता में बल है आप सभी अश्लीलता पर आवाज उठाते रहें, एक खेसारी ही नहीं बहुतेरे हैं, जो भोजपुरी में अश्लीलता परोस रहे हैं, बिना जति-धर्म देखे अश्लील गाने वाले का विरोध करते रहें, अश्लीलता के खिलाफ आंदोलन जारी रहेगा।
एसोसिएशन ने छेड़ा अश्लीलता के खिलाफ आंदोलन
ज्ञात हो उत्तर प्रदेश फि़ल्म मेकर एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री दुबे ने भोजपुरी गाने, डांस फि़ल्म में अश्लीलता के खिलाफ आंदोलन छेड़ रखा है, जिसका लोगो ने समर्थन किया। आवाज उठाना शुरु किया इसमे प्रमुख रूप से राष्ट्रीय कलाकार मंच, अखिलेश राय, कलाकार मंच, बृहस्पति पाण्डेय (सरस सलिल), आनंद त्रिपाठी (बिंदास भोजपुरियाँ) कुमार यूडी, अरविंद मौर्य, रितिक कौशिक, बृजेश जायसवाल, अमित कुमार, नौशाद अली, राहत रितेश ठाकुर, संग्राम वर्मा ने भी शशिनाथ दुबे के आंदोलन को गति देने के लिए आवाज उठाना शुरू किया। जिसका फल ये हुआ कि बिहार सरकार को अश्लीलता के खिलाफ़ आवाज़ को समर्थन में बयान जारी करना पड़ा। इस पर शशिनाथ दुबे का कहना है कि उनका आंदोलन चलता रहेगा, अश्लीलता भरे गाने डांस वालो का उत्तर प्रदेश में शूटिंग करने पर विरोध जारी रहेगा, फि़ल्म बंधु में शिकायत करके उनके फिल्मों के अनुदान वापसी का दबाव बनाया जायेगा, इन्हें उत्तर प्रदेश फि़ल्म विकास परिषद तथा फि़ल्म बंधु से ब्लैक लिस्ट करने के लिए लिखा जाएगा। आंदोलन होगा, साथ ही नीलकमल सिंह की गिरफ़्तारी की माँग की। कहाकि इसके खिलाफ़ कार्यवाही कराने के लिए आंदोलन किया जायेगा।

सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *