Monday, January 30, 2023
spot_imgspot_img
Homeशहरकानपुरचौबेपुर अस्पताल में तीन माह से नहीं हैं ‘एंटीरेबीज के इंजेक्शन’

चौबेपुर अस्पताल में तीन माह से नहीं हैं ‘एंटीरेबीज के इंजेक्शन’

जन एक्सप्रेस/आदित्य श्रीवास्तव
कानपुर नगर। शहर अंतर्गत आने वाला चौबेपुर कस्बे के समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पिछले 3 महीने से एंटी रेबीज इंजेक्शन नहीं है जिससे कुत्ता या बंदर काट लेने पर पीडि़तों मरीज को लगवाना पड़ता है। चौबेपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ने सरकारी अस्पताल छोडक़र प्राइवेट अस्पतालों की ओर रुक करना पड़ता है साथ ही कुछ लोगों की आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण वह सिर्फ चौबेपुर सीएचसी के चक्कर ही लगाते रहे हैं लेकिन एंटी रेबीज का इंजेक्शन ना होने के कारण उन्हें निराशा ही हाथ लगी है । ऐसे में मुख्यमंत्री की मुफ्त इलाज योजना को स्वास्थ्य विभाग ठेंगा दिखा रहा है। चौबेपुर सरकारी अस्पताल एंटी रेबीज इंजेक्शन नहीं मिलने के कारण क्षेत्र के लोगों को बाहर निजी अस्पतालों में महंगे दाम पर इंजेक्शन लगवाना पढ रहा है । अक्सर बंदर तथा कुत्ते लोगों को काट लेते हैं जिससे एंटी रेबीज इंजेक्शन लगना जरूरी होता है। पीडि़त व्यक्ति को काफी नुकसान उठाना पड़ता है और जब मरीज अस्पताल पहुंचते हैं तब वहां पर इंजेक्शन ना होने का जवाब मिलता है तब निराशा के साथ मरीज वापस हो प्राइवेट हॉस्पिटलों की तरफ रुक करता है। वैसे तो मुख्यमंत्री द्वारा मुफ्त इलाज योजना चलाई जा रही है लेकिन जब लोगों को दवा ही नहीं मिलेगी तब ऐसी योजना का क्या लाभ है ? यहां तक की एंटी रेबीज इंजेक्शन जो कि सरकार द्वारा मुफ्त उपलब्ध कराए जाते हैं वही सरकारी अस्पताल में इंजेक्शन ना होने के कारण निजी अस्पताल उस इंजेक्शन के 300 से 400 रुपए तक ले लेते हैं से लोगों को आर्थिक समस्या तो होती ही है साथ ही काफी लोग हर एक पैसे के कारण बिना इलाज के ही रह जाते हैं ।

RELATED ARTICLES

Cricket live Update

- Advertisment -spot_imgspot_img
- Advertisment -spot_imgspot_img

Most Popular