स्वास्थ्य जागरूकता शिविर में विशेषज्ञ चिकित्सकों ने दिया परामर्श

उत्तर प्रदेश
सच दिखाने की जिद...

राष्ट्रीय सेवा योजना द्वारा किया गया कार्यक्रम का आयोजन
बलरामपुर । जनपद बलरामपुर स्थित एमएलके पीजी कॉलेज के एनएसएस द्वारा आयोजित विशेष शिविर के छठे दिन स्वास्थ्य जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसकी सफलता हेतु चिकित्सकों एवं परामर्श दाताओं की टीम को आमंत्रित किया गया था ।
जानकारी के अनुसार कार्यक्रमाधिकारी डॉ राजीव रंजन ने स्वास्थ्य विभाग से आई हुई टीम के चिकित्सकों एवं परामर्श दाताओं का स्वागत एवं अभिनंदन किया । इस कार्यक्रम के बाद स्लोगन एवं बैज प्रतियोगिता में प्रतिभाग करने वाले स्वयंसेवक व स्वयं सेविकाओं के द्वारा निर्मित कार्यों का मूल्यांकन करने हेतु पधारे महाविद्यालय के पूर्व मुख्य कुलान शासक एवं संस्कृत विभाग के विभागाध्यक्ष डॉक्टर माधव राज द्विवेदी का भी डॉ राजीव रंजन ने हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन किया।
स्वास्थ्य टीम के प्रमुख चिकित्सक अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ ए के सिंघल व उनके साथ सामान्य स्वास्थ्य विषयक अनेक जानकारियों को देने वाले डॉक्टर जग मोहन चिकित्सा अधिकारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जोकहिईया मौजूद थे, जिन्होंने स्वास्थ्य संबंधी जानकारी प्रदान की । अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ ए के सिंघल ने  जीवन को स्वस्थ रखने के उपाय विशेष रूप से कोविड-19 के खतरों से बचने के नियमों एवं उपाय से अवगत कराया और स्वयंसेवक व स्वयंसेवििकाओ को ना केवल अपने स्वास्थ्य अपितु अपने परिवार के तथा समाज के लोगों को भी स्वस्थ रहने के विषय में जागरूक रखने की सलाह दी । डॉक्टर जग मोहन ने सामान्य स्वास्थ्य संबंधी उपायों की विस्तृत चर्चा से स्वयंसेवक स्वयं सेविकाओं को लाभान्वित किया। परामर्शदाता के रूप में आई हुई महिला चिकित्सालय बलरामपुर की साथिया विभाग की अनुराधा त्रिपाठी ने विशेष रूप से स्त्री रोगों से बचने के लिए किन किन उपायों को करना आवश्यक होता है इसकी जानकारी देने के साथ-साथ ऐसी समस्याओं के निदान हेतु साथिया विभाग में आकर परामर्श लेने के लिए स्वयं सेविकाओं को प्रेरित किया । उन्होंने बताया कि मेमोरियल चिकित्सालय में भी यह विभाग है जहां जाकर छात्र अपनी समस्याओं का निदान करवा सकते है । इसी क्रम में राष्ट्रीय किशोर स्वास्थ्य कार्यक्रम के जिला प्रबंधक अमरेंद्र मिश्र ने 10 से 18 वर्ष के बच्चों के स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के निराकरण विषय में महत्वपूर्ण जानकारी दी । संदीप कुमार सिंह, जो कि एड्स विषयक समस्याओं के परामर्शदाता हैं ने बच्चों को एचआईवी और एड्स के अंतर को समझाते हुए एड्स से बचने के उपायों पर प्रकाश डाला । इसी क्रम में क्षय रोग एवं ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के संबंध डॉ सूर्य मणि त्रिपाठी ने टी वी  से बचाव, उस का निशुल्क इलाज और लक्षणों से स्वयंसेवक तथा स्वयं सेविकाओं को अवगत कराया साथ ही सरकार द्वारा दी जाने वाली विभिन्न प्रकार की सहायता के बिषय में भी अवगत कराया। डॉक्टर द्विवेदी ने विभिन्न टीमों द्वारा निर्मित स्लोगन एवं वैज का निरीक्षण किया तथा मूल्यांकन के पश्चात  मैत्रेई, अचीवर व शक्ति नामक टीमों को क्रमश प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्रदान किया। मनोहर पांडे के उत्कृष्ट स्लोगन के लिए सांत्वना पुरस्कार की भी घोषणा की गई। कार्यक्रमाधिकारी डॉ आलोक कुमार शुक्ला ने शिविर के सभी स्वयंसेवक व स्वयं सेविकाओं के अनुशासन पर विशेष ध्यान रखा और उन्हें समय के साथ-साथ अपने कर्तव्यों के निर्वाह के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम के अंत में कार्यक्रमाधिकारी डॉ आशीष कुमार लाल जी ने अपने सभी कार्यक्रमिधिकारियों के साथ साथ चिकित्सकों ,परामर्श दाताओं , डॉ द्विवेदी सर ,उच्च प्राथमिक विद्यालय के शिक्षिकाओं और राष्ट्रीय सेवा योजना के सभी स्वयंसेवक व यं सेविकाओं को धन्यवाद ज्ञापित किया।

सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *