एसबीआई घोटाले की सीबीआई जांच की फर्जी अफवाह से मची अफरा तफरी

उत्तर प्रदेश
सच दिखाने की जिद...

जन एक्सप्रेस/संवाददाता।
गोला गोकर्णनाथ खीरी। भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया शाखा गोला में लगभग चौदह माह पूर्व हुए करोड़ों के घोटाले की सीबीआई जांच कराए जाने कि फर्जी अफवाह से बुधवार को पूरे दिन अफरा तफरी मची रही । लोग शाखा प्रबंधक और पुलिस को फोन करके और  जानकारी लेते रहे परंतु अंत में यह बात कोरी अफवाह निकली।बताया जाता है बीती रात से सोशल मीडिया पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया शाखा गोला में करोड़ों के हुए घोटाले के मामले को सीबीआई को सुपुर्द किए जाने संबंधी खबरें चलने लगी। इन खबरों से नगर के पत्रकारों और बुद्धिजीवी लोगों में हड़कंप मचा रहा। बुधवार को एसबीआई गोला के शाखा प्रबंधक मनोज कुमार जैन से संवाददाता ने जब वार्ता की तो उन्होंने कहा कि पूरे दिन से बहुत से लोग इसी मामले में उनसे जानकारी ले चुके हैं परंतु अभी तक सीबीआई जांच के मामले में उन्हें कोई जानकारी नहीं है।उधर इसी प्रकरण पुलिस क्षेत्राधिकारी रविंद्र कुमार वर्मा ने बताया कि बैंक घोटाले की जानकारी प्रारंभिक तौर पर उनको दी गई थी परंतु अब जांच आर्थिक अपराध शाखा लखनऊ कर रही है इसलिए उन्हें सीबीआई जांच की कोई जानकारी नहीं है।बताते चले कि 30 जनवरी 2000 को गोला स्टेट बैंक शाखा में कई खाताधारकों की लिमिट बढ़ाने को लेकर करोड़ों का घपला पकड़ा गया था। इस घपले का मुकदमा भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत पूर्व प्रबंधक शाखा गोला उमेश चंद्र पांडे, दिवाकर प्रकाश, रितेश कुमार असिस्टेंट मैनेजर, नंदकिशोर, राजेश कुमार पांडे और शिकायतकर्ता गोपाल दत्त सिंह पर मुकदमा दर्ज किया गया था। शाखा प्रबंधक ने बताया कि सभी आरोपी जमानत पर छूट चुके हैं परंतु जांच आर्थिक अपराध शाखा लखनऊ कर रही है। मंगलवार की रात सोशल मीडिया पर इस बड़े बैंक घोटाले की जांच सीबीआई को दिए जाने की अफवाह ने पूरे दिन नगर में अफरा-तफरी का माहौल बना दिया। पत्रकार ने इस मामले में जो जानकारी हासिल की तो पता चला यह कोरी अफवाह है।

सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *