Saturday, December 3, 2022
spot_imgspot_img
Homeशहरकानपुरलॉकडाउन का खौफ : रोडवेज बसों में जान को जोखिम में डालकर...

लॉकडाउन का खौफ : रोडवेज बसों में जान को जोखिम में डालकर घर लौटने को मजबूर प्रवासी मजदूर-जनता

जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। सुप्रीम कोर्ट ने भले ही हाईकोर्ट के फैसले को बदल दिया हो, पर लोगों में पूर्ण लॉकडाउन का जबरदस्त खौफ है। खासकर दिल्ली में लॉकडाउन होने से लोगों के मन में तीव्रता से सवाल उठ रहे हैं। इसी के चलते प्रवासी लोग रोडवेज बसों में जान को जोखिम में डालकर घर लौटने को मजबूर हो रहे हैं।
दिल्ली में लॉकडाउन घोषित होने के बाद प्रवासी लोग पिछले वर्ष को यादकर अपने घर की ओर भागने लगे हैं। ऐसे में लोगों के पास सबसे उचित साधन रोडवेज बस है और लोग बसों की छतों पर बैठकर सफर करने को मजबूर हैं। दिल्ली से लेकर कानपुर तक बसों की छतों पर सफर करना खतरे से कम नहीं है। इस तरह के सफर में कोरोना गाइड लाइन का पालन होने का तो सवाल ही नहीं है। वहीं ऐसा सफर कभी भी जानलेवा भी साबित हो सकता है। इन सबके बावजूद लोग इस तरह का सफर लोग बराबर कर रहे हैं और परिवहन विभाग के अधिकारी आंख बंद करके सब तमाशा देख रहे हैं। यही नहीं कानपुर के अन्तरराज्जीय बस अड्डा झकरकटी में भी लोगों की भीड़ स्टेशन पर बस आते ही बस की ओर दौड़ पड़ती है।
इस पर झकरकटी बस अड्डे की कार्यवाहक एआरएम अपर्णा मीनाक्षी ने मंगलवार को बताया कि देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। दिल्ली में लॉकडाउन की घोषणा के बाद अन्य प्रदेशों में भी लोग लाकडाउन की आशंका जता रहे हैं। ऐसे में लोगों ने पलायन करना शुरु कर दिया है। प्रवासी मजदूर अपने घरों की ओर जाने के लिए बेताब हो रहे हैं और कानपुर में कोविड लाइन का पूरी तरह से पालन कराया जा रहा है। रही बात बसों की छतों पर प्रवासी लोगों के आने की तो यह बसें दिल्ली की ओर से आईं हैं। छतों पर लोगों के बैठने की जानकारी पर फौरन उन्हे उतारा गया है और दूसरी बसों से उनको गंतव्य के लिए रवाना किया गया है।

RELATED ARTICLES

Cricket live Update

- Advertisment -spot_imgspot_img
- Advertisment -spot_imgspot_img

Most Popular