महानगर के वार्ड का विकास कर ‘किन्नर काजल किरन’ ने गांव का किया रुख प्रधान पद की बनी उम्मीदवार

उत्तर प्रदेश कानपुर राज्य शहर
सच दिखाने की जिद...

जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। पंचायत चुनाव को लेकर ग्रामीणों के बीच सबसे अधिक दिलचस्पी ग्राम पंचायत प्रधान पद के लिए है। उम्मीदवार तो जीत का गणित लगा ही रहे हैं साथ ही ग्रामीण भी एक—एक वोट को समझने का प्रयास कर रहे हैं कि कौन किधर जाएगा। इन्ही दिलचस्पियों के बीच रविवार को जब किन्नर काजल किरन ने बिधनू ब्लॉक के सेन पश्चिम पारा से नामांकन करा दिया तो ग्राम पंचायत के साथ ही जनपद के लोगों के बीच चर्चा का केन्द्र बन गया।
बिधनू ब्लॉक के सेन पश्चिम पारा की रहने वाली किन्नर काजल किरन करीब 40 वर्षों से कानपुर महानगर में रह रही थीं। वर्ष 2006 में वह पशुपति नगर वार्ड 48 (वर्तमान वार्ड 66) से भारी मतों से जीतकर पार्षद बनीं थी और क्षेत्र का विकास भी कराया था। वर्ष 2012 में उन्होंने महाराजपुर विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय चुनाव लड़ा था। चुनाव में उन्हें जीत जरुर नहीं मिली, लेकिन जनता ने सम्मानजक मत दिये थे। शहर में पार्षद के दौरान कराए गये उनके विकास कार्यों की आज भी चर्चा होती है। लेकिन एक वर्ष पहले सेन पश्चिम पारा से फत्तेपुर गोही रोड पर मकान भी बनवा लिया है, जिसके बाद से वह स्थाई रुप से गांव में ही रह रही हैं और गांव के विकास की ठान ली।
इसी के तहत रविवार को उन्होंने बिधनू ब्लॉक में ग्राम पंचायत प्रधान पद के लिए नामांकन कराया। उनके नामांकन कराए जाने से अब ग्राम पंचायत का चुनाव दिलचस्प हो गया है। हालांकि उनसे पहले ग्राम पंचायत से चार अन्य उम्मीदवार भी नामांकन करा चुके हैं। मंगलामुखी किन्नर समाज की राष्ट्रीय महासचिव काजल किरन का कहना है शहरी वातावरण से मोह भंग हुआ है तो अब विकास कराने के लिए गांव की ओर रुख किया है।


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *