मण्डलायुक्त ने कोरोना महामारी के लिए हुई व्यवस्थाओं की ली जानकारी

उत्तर प्रदेश कानपुर राज्य शहर
सच दिखाने की जिद...

जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर देहात। मण्डलायुक्त डा. राजशेखर ने मंगलवार को जनपद का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने जनपद की स्वास्थ सेवाओं से लेकर कोरोना महामारी के लिए जनपद में हुई व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। वहीं स्वास्थ सेवाओं में मिली खामियों के चलते उन्होंने सीएमओ और जिम्मेदारों को फटकार भी लगाई। मंडलायुक्त ने अकबरपुर में संयुक्त जिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया। इस दौरान जिलाधिकारी जितेन्द्र प्रताप सिंह, पुलिस अधीक्षक केशव कुमार चौधरी, एडीएम प्रशासन पंकज वर्मा, एडीएम वित एवं राजस्व साहब लाल, सीएमओ डॉ. राजेश कटियार, सीएमएस डॉ. एसपी सिंह व चिकित्सक उपस्थित रहे। जिला अस्पताल के आकस्मिक सेवा के प्रवेश गेट पर बने कोविड हेल्प डेस्क का जन उन्होंने निरीक्षण किया तो वहां रजिस्टर में केवल 13 व्यक्तियों की ही जानकारी लिखी हुई थी। जबकि जनपद का प्रधान चिकित्सालय होते हुए यह संख्या बहुत ही कम थी। इसी क्रम में सैम्पलिंग सेल में पहुंचकर उन्होंने वहां उपस्थित स्वास्थ्य कर्मियों से सैम्पल के बारे में जानकारी ली तो, उनके द्वारा अवगत कराया गया कि यहां केवल एन्टीजेन परीक्षण होते है। वहीं जब आरटीपीसीआर के बारे में पूछा गया तो उनको जानकारी हुई कि वह परीक्षण अकबरपुर सीएचसी में कराये जाते है। रजिस्टर में एन्टीजेन के जरिए परीक्षण संबंधी आरटीपीसीआर की आवश्यकता को लेकर कोई ब्योरा दर्ज नहीं किया गया था। इसको देखते हुए उन्होंने सीएमओ को लापरवाही के चलते फटकार भी लगाई। वहीं आरटीपीसीआर कराने वाले व्यक्तियों का विवरण दर्ज करने के निर्देश दिये, इसके उपरान्त जिला अस्पताल में हो रहे वैक्सीनेशन सेन्टर का भी मण्डलायुक्त डा. राजशेखर ने निरीक्षण किया।
मण्डलायुक्त ने कहा कि कोरोना का तृतीय चक्र आने की आहट मिल रही है। इससे पहले ही सारी तैयारी कर ली जाये। वेन्टीलेटर, एल-1 अस्पतालों में बेडों की संख्या, आक्सीमीटर, थर्मोस्कैनर ज्यादा से ज्यादा बढ़ा दी जाये क्योकि इस बार विशेषज्ञों का मानना है कि यह तृतीय चरण बच्चों के लिए ज्यादा हानिकारक होगी। वहीं सीएमएस से मण्डलायुक्त ने घर बैठे परामर्श के लिए डाक्टरों के नाम व नम्बर जिनका प्रचार-प्रसार किया गया है उसमें प्रगति के बारे में जानकारी ली। किन डाक्टरों ने कितने लोगों को किस बीमारी के सन्दर्भ में परामर्श दिया तथा उसकी क्या स्थिति है। इस सन्दर्भ में कोई भी रजिस्टर अब तक तैयार नहीं हो सका। इस पर मण्डलायुक्त नाराज दिखे, जिलाधिकारी ने इस पर उन्हे भरोसा दिलाते हुए कहा कि इसका एक समुचित ब्योरा तैयार कर लिया जायेगा।


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *