श्रम रोजगार मंत्री से मिले विधायक, बीमा अस्पताल में बेहतर इलाज की मांग

उत्तर प्रदेश कानपुर राज्य शहर
सच दिखाने की जिद...

40 की जगह शत-प्रतिशत काम करे अस्पताल, लोगों को मिले सुविधा

जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। पाण्डु नगर स्थित कर्मचारी राज्य बीमा अस्पताल असुविधाओं के कारण अपनी पूरी क्षमता से कार्य नहीं कर पा रहा है। जिससे मरीजों को बेहतर इलाज नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में यह सुनिश्चित किया जाए कि अपनी पूरी क्षमता के अनुसार अस्पताल काम करे और लोगों को सरकार की मंशा के अनुरुप इलाज मिल सके। यह बातें शुक्रवार को नई दिल्ली में श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेन्द्र यादव से मुलाकात कर कानपुर के भाजपा विधायक सुरेन्द्र मैथानी ने कही।
गोविंद नगर विधानसभा के विधायक सुरेंद्र मैथानी ने अपने क्षेत्र के अंतर्गत कर्मचारी राज्य बीमा योजना से आच्छादित लाभार्थियों के लिए स्थापित कर्मचारी राज्य बीमा राज्य बीमा चिकित्सालय, पांडू नगर कानपुर की ओर से श्रम एवं रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव से दिल्ली में मुलाकात की। विधायक ने अनुरोध किया कि उक्त चिकित्सालय का संचालन वर्तमान में राज्य सरकार द्वारा किया जा रहा है। इस अस्पताल में कर्मचारी राज्य बीमा निगम द्वारा पूर्व में चिकित्सालय की सुविधाओं की सेवाओं के आधुनिकरण सहित, डेंटल कॉलेज की स्थापना का निर्णय लिया गया था। जिसका ठेका कर्मचारी राज्य बीमा निगम द्वारा भारत सरकार की इकाई एंनबीसीसी को दिया गया।
मेसर्स एनबीसीसी द्वारा पांडू नगर चिकित्सालय में आधुनिकरण डेंटल कॉलेज निर्माण परियोजना के अंतर्गत चिकित्सालय के कुछ हिस्सों का निर्माण किया गया है। किन्तु डेंटल कॉलेज परियोजना का काम बंद होने से अस्पताल में डेंटल कॉलेज निर्माण के लिए, अर्ध-निर्मित संरचना सहित महंगे उपकरण जैसे-डीजल जनरेटर सेट, इलेक्ट्रॉनिक पैनल, इत्यादि लंबे समय से अनुपयोगी पड़े हैं।
मरीजों को नहीं मिल पा रहा लाभ
विधायक ने बताया कि इस प्रकार चिकित्सालय की 40 प्रतिशत क्षमता उपयोग में लाई जा पा रही है। जिससे मरीजों को पूरा लाभ नहीं मिल पा रहा है। इस संबंध में संज्ञान में आया है कि कर्मचारी राज्य बीमा निगम ने उक्त अस्पताल में डेंटल कॉलेज की स्थापना के निर्णय को बदलकर सुपर स्पेशलिटी अस्पताल विकसित करने का निर्णय लिया है। इस हेतु श्रम एवं रोजगार मंत्रालय स्तर से एक उपसमिति भी गठित की गई थी। जिसका एक सुझाव यह भी है कि कर्मचारी राज्य बीमा निगम जाजमऊ चिकित्सालय को पुन: राज्य सरकार को वापस दे दिया जाए।एवं बदले में पांडव नगर चिकित्सालय को,सेकेंडरी केयर और एस0एस0टी केयर की सुविधा एक प्रशासनिक नियंत्रण के अंतर्गत प्रदान करने के लिए कर्मचारी राज्य बीमा निगम हस्तांतरित कर दिया जाए।

 


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *