हनुमान गढ़ी पर चल रहे श्रीमद्भागवत कथा के चौथे दिन मनाया गया नंद महोत्सव

उत्तर प्रदेश
सच दिखाने की जिद...

बलरामपुर । जनपद बलरामपुर जिला मुख्यालय के हृदय स्थली वीर विनय चौक स्थित हनुमान गढ़ी मंदिर में श्रीराम जानकी प्रतिष्ठा महोत्सव के उपलक्ष्य पर चल रहे श्रीमद्भागवत कथा के चौथे दिवस गंगा उत्पत्ति, श्रीराम जन्म, व श्रीकृष्ण जन्म की कथा सुनाई गई । श्रीराम जन्म पर बधाई हो व श्रीकृष्ण जन्म पर… नंद घर आनंद भयो की घोष से पूरा मंदिर प्रांगण भक्तिमय हो गया, श्रोता आह्लादित हो उठे ।
जानकारी के अनुसार कथा व्यास भीष्म पितामह महाराज ने कहा कि जब धर्म संकट मे पड़ता है। निश्चरों की संख्या बढ जाती है तब देवताओं की अनुग्रह पर भक्त जनों के लिए भगवान धरती पर मानव रूप में अवतार लेते हैं । लंकापति रावण के अधर्म, साधु संतों को निश्चरों से मुक्ति दिलाने हेतु भगवान विष्णु माता कौशल्या के पुत्र के रूप में चतुर्भुजी रूप में अवतार लेते हैं। माता कौशल्या के विनती करने पर भगवान पुत्र रूप में आते हैं । श्रीकृष्ण जन्म कथा सुनाते हुए कहा कि जब कंस बहन देवकी को विवाह पश्चात विदा करने के लिए रथ पर जा रहा होता है, तब आकाशवाणी होती है कि कंस तेरे बहन की आठवीं संतान के द्वारा तु्म्हारा वध होगा जिस पर कंस देवकी व वसुदेव को बंदीगृह में डाल देता है। कंस देवकी की हर संतान का वध करता जाता है। समय आने पर आठवें पुत्र के रूप में कृष्ण का जन्म होता है, जिसे वसुदेव यशोदा के गोद में डाल आते हैं और पुत्री को ले आते हैं जिसे कंस जब मारना चाहता तो पुत्री देवी रूप में प्रकट होकर बताती है कि तुम्हे मारने वाला इस संसार में आ चुका है। उधर बाबा नंद व मैया यशौदा आनंदमय है पूरे गोकुल में बधाई गाई जा रही है  । कथा के दौरान महत हनुमान गढ़ी महेंद्र दास, विधायक तुलसीपुर कैलाशनाथ शुक्ला, श्रावस्ती विधायक राम फेरन पांडे, एमडी एसएससी ग्रुप धीरेन्द्र प्रताप सिंह ‘धीरु’, मीडिया प्रभारी भाजपा डी. पी. सिंह ‘बैस’, सह मीडिया प्रभारी संदीप उपाध्याय, डब्बू मिश्रा, महेश मिश्रा, रविन्द्र गुप्ता सहित नगर के श्रोताओं की उपस्थिति रही । महंत महेंद्र दास महाराज ने कहा कि राम चरित मानस में प्रीतम शब्द श्रीराम भक्त हनुमान जी के लिए आया है। भगवान कहते हैं मेरा वही प्रिय है जो मेरे बताये रास्ते पर चलते हैं.. हमें अपने उपर दृढ विश्वास होना चाहिए.. महेंद्र दास ने अपने गुरु के लिए सभी से हनुमान चालीसा पढ कर उनके दीर्घायु होने की कामना करने को कहा। तुलसीपुर विधायक कैलाश नाथ शुक्ला ने कहा कि आवत एहि सर अति कठिनाई, राम कृपा बिन आई न जाई… हम और अपना अमूल्य समय निकालकर काम काज छोड़कर कथा सुनने के लिए आये है ये हमारा सौभाग्य है । श्रावस्ती विधायक राम फेरन पांडे ने सभी को प्रणाम करते हुए कहा कि हमें इस कथा का लाभ तभी मिलेगा जब हम अपने मन के विकार को निकाल फेकेंगे ।

सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *