पंचायत चुनाव: विकासखंड कल्याणपुर में वसूली के मामले में डीएम ने बैठाई जांच

उत्तर प्रदेश कानपुर राज्य शहर
सच दिखाने की जिद...

जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के नामांकन के दौरान सरकारी कर्मचारियों द्वारा उम्मीदवारों से वसूले गये करीब दो करोड़ रुपये के मामले में जिलाधिकारी ने जांच बैठा दी है। जांच कर रही दो सदस्यीय टीम में शामिल जिला पंचायत राज अधिकारी (डीपीआरओ) ने कल्याणपुर ब्लॉक के संबंधित कर्मचारियों के बयान लिये। यही नहीं लिखित बयान देने पर अधिकांश कर्मचारी व पंचायत सचिव कन्नी काट गये। डीपीआरओ ने कहा कि जांच में दोषी पाये जाने पर संबंधित कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
पंचायत चुनाव के पहले चरण के तहत जनपद में अलग—अलग 8857 पदों के लिए तीन और चार अप्रैल को 15428 उम्मीदवारों ने ब्लॉकों व जिला पंचायत कार्यालय में नामांकन कराया। इस दौरान देखा गया कि अदेय प्रमाण पत्र व नामांकन पत्र की बिक्री पर सरकारी कर्मचारियों ने उम्मीदवारों से जमकर वसूली की। इस पर ‘पंचायत चुनाव के नामांकन में कर्मचारियों ने उम्मीदवारों से ठगे करीब दो करोड़ रुपये’ शीर्षक से खबर जारी की गई थी। जिलाधिकारी आलोक तिवारी ने खबर का तत्काल संज्ञान लेते हुए दो सदस्यीय जांच कमेटी गठित कर दी। कमेटी में जिला पंचायत राज अधिकारी कमल किशोर और सहायक निबन्धक सहकारी समिति को शामिल किया गया है। डीपीआरओ ने कल्याणपुर ब्लॉक जाकर परिसर में खुली बैठक कर संबंधित कर्मचारियों के बयान लिये और मामले की जांच की। हालांकि जब यह कहा गया कि लिखित बयान सभी ग्राम पंचायत सचिव भी देंगे तो सचिव एक—दूसरे पर कानाफूसी करने लगे और धीरे—धीरे सभी वहां से खिसक लिये। तो वहीं सहायक निबन्धक सहकारी समिति नदारद रहें। डीपीआरओ ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस दौरान खण्ड विकास अधिकारी अनिरुद्ध सिंह चौहान, एडीओ पंचायत सुशील कुमार आदि मौजूद रहे।


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *