करोड़ों की ठगी करने वाले विष्णु बाबू की जब्त होगी सम्पत्ति

उत्तर प्रदेश देश राज्य शहर
सच दिखाने की जिद...

भाजपा नेत्री पूजा बंसल ने लगाया था ठगी का आरोप, अपने को बताता है आरएसएस का राष्ट्रीय स्तर का पदाधिकारी
जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। भाजपा नेत्री पूजा बंसल ने चार दिन पहले जिस कथित आरएसएस के राष्ट्रीय स्तर के पदाधिकारी विष्णु बाबू दिवाकर पर अयोध्या राम मंदिर और नौकरी के नाम पर करोड़ों की ठगी करने का आरोप लगाया था उस पर अब पुलिस का शिकंजा कस गया है। पुलिस ने भाजपा नेत्री के आरोप पर मुकदमा दर्ज कर उसकी हिस्ट्री खंगालना शुरु कर दी है। पुलिस को अब तक दो और धोखाधड़ी के मुकदमें मिले हैं। एडीजी भानु भास्कर का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है और उसकी संपत्ति भी जब्त की जाएगी।
भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मेरठ निवासिनी पूजा बंसल ने चार दिन पहले कानपुर प्रेस क्लब में वार्ता के दौरान बताया था कि ग्राम इटारा, थाना सचेंडी, कानपुर आउटर निवासी विष्णु बाबू दिवाकर अपने आप को संघ का राष्ट्रीय स्तर का पदाधिकारी बताता है। इसी आधार पर वह पिछले तीन वर्षों से अयोध्या राम मंदिर के नाम पर अनधिकृत रुप से करोड़ों रुपये की वसूली की। इसके साथ ही लोगों से नौकरी के नाम पर ठगी की और मुझसे भी पार्टी में बड़ा पद दिलाने के नाम पर 50 लाख रुपये की ठगी कर ली। ठगी के रुपयों से वह अपने गांव में तीन मंजिल का शानदार मकान, चौपहिया गाड़ी, बुलैट आदि का मालिक बन गया है।
पूजा की तहरीर पर दर्ज हुआ मुकदमा
पूजा की तहरीर पर सीओ की जांच रिपोर्ट के आधार पर सचेंडी पुलिस ने विष्णु बाबू दिवाकर के खिलाफ धोखाधड़ी, जालसाजी धाराओं में मुकदमा दर्ज किया। सीओ सुशील कुमार दुबे ने मंगलवार को बताया कि मुकदमा दर्ज कराकर विवेचना कराई जा रही है। आरोपित के खिलाफ कार्रवाई होगी। बताया कि अब तक जांच में सामने आया कि आरोपित के खिलाफ कानपुर देहात के डेरापुर थाने में भी वर्ष 2016 व वर्ष 2018 में धोखाधड़ी के मुकदमे दर्ज हुए थे। वहां भी आरोपित पर भूमि सम्बंधी मामलों में धोखाधड़ी के आरोप लगे थे। एक मामले में उसके खिलाफ आरोपपत्र दाखिल हो चुका है। डेरापुर थाने से दोनों मुकदमों का ब्योरा मांगा गया है। वहीं एडीजी भानु भास्कर ने बताया कि आरोपित ने कहीं और ठगी तो नहीं की है, इसकी जानकारी के लिए एनसीआरबी या नेशनल क्राइम रिकार्ड ब्यूरो और डीसीआरबी यानी डिस्ट्रिक क्राइम रिकार्ड ब्यूरो से सूचना मांगी गई है। आरोपित के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई शुरु की जाएगी। इसके बाद अवैध रुप से कमाई गई संपत्ति का जब्तीकरण भी पुलिस को करने का आदेश दिया गया है।
अपने को बताता है आरएसएस का पदाधिकारी
पूजा ने बताया कि लगभग तीन वर्ष पूर्व दिल्ली स्थित राष्ट्रीय भाजपा कार्यालय में एक कार्यक्रम के दौरान उससे मुलाकात हुई थी। इसी के बाद से ही यह पार्टी के वरिष्ठ व कनिष्ठ कार्यकर्ताओं के सम्पर्क में रहते हुए जान-पहचान बढ़ाता रहा। अपने आप को संघ का बड़ा राष्ट्रीय स्तर का पदाधिकारी बताता रहा। इसने सभी आला अधिकारियों के फोन नम्बर प्राप्त कर लिए व कभी कभार बात भी करता रहा। इसने मुझे पार्टी में बड़ा पद दिलाने का लालच दिया और 50 लाख रुपये ठग लिए।
नौकरी दिलाने के नाम पर करता है ठगी
ग्राम प्रधान व कानपुर विहिप के नगर अध्यक्ष सुमित शुक्ला ने बताया कि वह एक नटवरलाल है। वह गांव के कई लोगों से नौकरी दिलाने, एडमिशन कराने के नाम पर लाखों रुपये वसूल चुका है। उसकी जांच अवश्य होनी चाहिए। यह व्यक्ति संघ व भाजपा की छवि धूमिल कर रहा है। पार्टी के आलाकमान द्वारा गहन जांच करनी चाहिए और उसे कड़ी से कड़ी सजा दिलानी चाहिए जिससे ऐसा करने वाले अन्य नटरवरलालों को भी नसीहत मिल सके।

 

 

 


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *