भूमाफिया रामदास की पत्नी पर जनता को नहीं है विश्वास

उत्तर प्रदेश कानपुर राज्य शहर
सच दिखाने की जिद...

जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। ग्राम पंचायत कटरी सराय शंकर से प्रधान पद की उम्मीदवार ननकी देवी इस मर्तबा चर्चा में हैं। चर्चा में रहने का कारण स्वयं ननकी देवी नहीं है बल्कि उनका पति भूमाफिया रामदास है जो वर्तमान समय में जेल में दिन काट रहा है। चार मर्तबा की विजेता ननकी देवी के संबंध में अब जनता सोचने पर मजबूर है क्योंकि जनता का यह कहना है कि जिस पर हमने भरोसा किया था उसी का पति गरीबों का सहयोग करने की जगह ग्राम समाज की सरकारी जमीनों को बेचने वाला भूमाफिया निकला जनता तो दबी जुबान में यहां तक कह रही है कि हमें अपना बनाकर रामदास व उसकी पत्नी ने लूट लिया।
कौन है रामदास और किस मामले में गया है जेल
थाना कोहना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत कटरी सराय शंकर के प्रधान पति रामदास ने कटरी की 3500 बीघा सरकारी जमीन पर पिछले 34 साल से अवैध कब्जे का खेल खेलना जारी कर रखा था। पिछले वर्ष भी अवैध कब्जे को हटवाने को लेकर तत्कालीन एसडीएम अमित राठौर की तरफ से एक आदेश जारी किया गया था लेकिन फाइल आगे नहीं बढ़ पाई थी। इस मामले की शिकायत बिल्हौर के भाजपा विधायक भगवती सागर की तरफ से की गई थी। मुख्यमंत्री कार्यालय से आदेश जारी होने के बाद जैसे ही यह मामला मंडलायुक्त डॉ राजशेखर के सामने आया उन्होंने तत्काल जमीनों को कब्जा मुक्त कराने की कार्रवाई शुरू करवाई थी। विधायक सागर के अनुसार इस क्षेत्र में अवैध तरीके से जमीन को कब्जाने और सरकारी जमीनों को कब्जा करने का खेल 1986 से चल रहा है। माफिया के जरिए काफी संख्या में किसानों की जमीनों को भी कब्जाया गया है और उनकी जमीन हड़पकर उसे बेच भी दिया गया है। भाजपा के प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल के जरिये भूमाफिया के अवैध कब्ज़े का मामला सीएम योगी तक पहुंचा, अधिकारी तब हरकत में आए हैं। इस मामले में 16 सितंबर को मुख्यमंत्री कार्यालय से अपर मुख्य सचिव तरफ से एक आदेश जारी किया गया था जिसमें गंगा बैराज और शुक्लागंज के बीच की सरकारी जमीनों से अवैध कब्जे हटाने और भू माफिया के जरिए की गई प्लाटिंग को ध्वस्त करने का निर्देश जारी किया गया था। रामदास के इशारे पर रीयल एस्टेट की कम्पनी ने प्लाटिंग शुरू कर दी थी। जिसकी कीमत 10 हजार रुपये प्रति वर्ग गज थी। करीब एक दर्जन प्लाट बेच भी दिये थे। कम्पनी का प्रोप्राइटर सुजीत सिंह चौहान है। जिसकी तालाश जारी है। खरीददारों का भी पता लगाया जा रहा है। अगर इस फर्जीवाड़े में किसी की संलिप्तता है तो उन पर भी कार्यवाही की जायेगी। गंगा बैराज से शुक्लागंज के मध्य सरकारी भूमि 708.770 हेक्टेयर, कटरी शंकरपुर सराय की सरकारी भूमि 398.5938 हेक्टेयर, दुधवा खेड़ा कटरी की सरकारी भूमि 85.9750 हेक्टेयर जमीन पर अवैध कब्जे और भू माफिया की तरफ से की गई अवैध प्लाटिंग को हटाया जाए। दो आराजी मिलजुमला नम्बर की हैं। जमीन पर कब्जा कर रजिस्ट्री कराकर सरकारी जमीन भी कब्जा ली गई थी। जमीन को काटकर रास्ते बनाये जा रहे थे। यह जमीन 165 हेक्टेयर की थी। भूमाफिया के साजिश थी। फिलहाल वर्तमान समय में भू माफिया रामदास जेल में है।


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *