Sunday, December 4, 2022
spot_imgspot_img
Homeविदेशरूस को आतंकवाद का प्रायोजक देश घोषित किया

रूस को आतंकवाद का प्रायोजक देश घोषित किया

रूस को आतंकवाद के राज्य प्रायोजक के रूप में नामित करने का फैसला किया। ऊर्जा बुनियादी ढांचे, अस्पतालों, स्कूलों और आश्रयों पर मॉस्को के सैन्य हमलों जैसे अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन का हवाला देते हुए यूरोपीय संसद ने ये कदम उठाया है। हालांकि, यह कदम काफी हद तक प्रतीकात्मक है, क्योंकि यूरोपीय संघ के पास इसका समर्थन करने के लिए कोई कानूनी ढांचा नहीं है। इसी समय, ब्लॉक ने पहले ही यूक्रेन पर अपने आक्रमण को लेकर रूस पर अभूतपूर्व प्रतिबंध लगा रखे हैं।यूरोपीय संसद से एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि यूक्रेन में नागरिकों के खिलाफ रूसी सेना और उनके प्रतिनिधियों द्वारा किए गए जानबूझकर हमले और अत्याचार, नागरिक बुनियादी ढांचे का विनाश और अंतरराष्ट्रीय और मानवीय कानून के अन्य गंभीर उल्लंघन आतंक के कृत्यों और युद्ध अपराधों का गठन करते हैं। ये एक प्रकार की यूक्रेन और उसके बाहर रूस के कार्यों की एक बड़े पैमाने पर प्रतीकात्मक निंदा है। अमेरिकी सरकार ने अब तक अपनी कानूनी प्रणाली के तहत संभावित अनपेक्षित परिणामों का हवाला देते हुए रूस का विरोध किया है।

क्या हैं इसके मायने?

समावेशन का अर्थ है विदेशी सहायता पर प्रतिबंध, ऐसी सरकारों को रक्षा निर्यात पर प्रतिबंध, संभावित सैन्य उपयोग और वित्तीय बाधाओं के साथ प्रौद्योगिकी के निर्यात पर नियंत्रण। महत्वपूर्ण रूप से, अमेरिकी अदालतों में रूस की संप्रभु प्रतिरक्षा के लिए भी इसके निहितार्थ हैं। रिपब्लिकन सीनेटर लिंडसे ग्राहम सहित कई अमेरिकी विधायकों ने इस तरह की सूची के लिए बाइडेन प्रशासन पर जोर दिया है।

RELATED ARTICLES

Cricket live Update

- Advertisment -spot_imgspot_img
- Advertisment -spot_imgspot_img

Most Popular