Thursday, December 9, 2021
spot_imgspot_img
Homeअन्य खबरेअपने हक को लेकर एकजुट होंगे सनातन धर्मी और ब्राह्मण समाज

अपने हक को लेकर एकजुट होंगे सनातन धर्मी और ब्राह्मण समाज

पुरी पीठाधीश्वर जगद्गुरू शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती के मार्गदर्शन महाभियान की शुरुआत के लिये अयोध्या में 20 और 21 नवम्बर को होगा मंथन शिविर

 जन एक्सप्रेस संवाददाता

लखनऊ।  उत्तर प्रदेश सहित देश भर में बिखरे पड़े ब्राह्मण और सनातन समाज को एकजुट करने के महाभियान की शुरुआत भगवान राम की जन्मस्थली और पौराणिक नगरी अयोध्या से आगामी 20 नवम्बर से होने जा रही है। देश की आजादी के बाद के पहले सबसे बड़े महाभियान को पुरी पीठाधीश्वर जगद्गुरू शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती का आशीर्वाद और मार्गदर्शन मिलेगा।

इस संबंध में जानकारी देते हुए ब्रह्म सागर अभियान के राष्ट्रीय अध्यक्ष कैप्टन एस. के. द्विवेदी और संगठन मंत्री विजय त्रिपाठी ने बुधवार को कहा कि ब्रहमण और सनातन समाज आदिकाल से उदारवादी सोच और विचारधारा का रहा है। समाज के अन्य वर्गों की तरह उसने कभी किसी से कुछ मांगा नहीं। चाहे त्रेता युग हो या वर्तमान कलयुग अथवा अन्य कोई युग-काल रहा है उसने हमेशा राजा बनाने का काम किया।

कैप्टन द्विवेदी ने कहा कि अपनी इसी उदारवादी सोच और विचाराधारा के चलते आज ब्राहमण तथा सनातन समाज पिछड़ता गया जबकि अन्य जातियां और समाज काफी आगे निकलते गये। अपनी आबादी और संख्याबल के हिसाब से उसे न तो सत्ता में भागीदारी मिल पा रही है और न ही उसके साथ सामाजिक न्याय मिल सका केन्द्र और राज्यों में सरकारें चाहे किसी भी दलों की रही हो लेकिन उनकी प्राथमिकता पर यह समाज नहीं रहा। राजनीतिक दलों ने फूट डालों राज करों के फार्मूले पर समाज को धोखा दिया। उन्होंने कहा कि अब वक्त आ गया है कि ब्राहमण और सनातन समाज एकजुट होकर अपने अधिकार और हक को हासिल करे।

उन्होंने कहा कि देश भर के ब्राह्मण और सनातन समाज को जोड़ने के लिये ब्रहम सागर संगठन का गठन किया गया है। पिछले करीब पांच माह से देश के अलग-अलग राज्यों तथा जिलों का सघन दौरा करके अलग-अलग बिखरे समाज के विभिन्न संगठनों को एक मंच पर लाने का काम किया गया है। अभी तक डेढ सौ से ज्यादा संगठन ब्रहम सागर के साथ जुड़कर अपना काम कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि पूरे देश में ब्रह्म और सनातन समाज को एकजुट करने के इस महाभियान के तहत अयोध्या में दो दिवसीय मंथन शिविर रखा गया है। मुख्य आयोजन आगामी 20 नवम्बर को रामकथा पार्क में होगा। जिसमे मुख्य अतिथि के रूप में पुरी पीठाधीश्वर जगद्गुरू शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती देश भर से आने वाले ब्रहमण और सनातन समाज के संगठनों को अपना संदेश और मार्ग दर्शन देंगे।

उन्होंने बताया कि ब्रहम सागर पूरी तरह गैर राजनीतिक संगठन है जो सभी धर्मों तथा राजनीतिक संगठनों का सम्मान करता है। संगठन का मुख्य मकसद टुकड़ों में बिखरी समाज की ताकत को एकजुट करके उसे सामाजिक न्याय दिलाने के साथ-साथ समाज को कमजोर वर्ग की मदद करके उसे आगे बढ़ाना है।

प्रेस वार्ता में सी पी तिवारी, डी सी दुबे, डाक्टर विपिन पाण्डेय, राजेन्द्र शुक्ल, कमल दुबे, जनार्दन मिश्र, हिमांशु शेखर अवस्थी, डी सी पाण्डेय, ओ पी चतुर्वेदी, हरि प्रसाद तिवारी अनुराग पाण्डेय आदि ब्राह्मण नेताओं नें भाग लिया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Cricket live Update

- Advertisment -spot_imgspot_img
- Advertisment -spot_imgspot_img

Most Popular