जमानत पर रिहा हुआ अभियुक्त मजहर मेरे पुत्र की हत्या कर देगा साहब

उत्तर प्रदेश
सच दिखाने की जिद...

जन एक्सप्रेस/सुनहरा।
लखीमपुर-खीरी। मुख्यमंत्री को दिए शिकायती पत्र में पीड़िता जाबरून मोहल्ला हिदायत नगर कोतवाली सदर लखीमपुर ने बताया मेरे पुत्र मोसिम की शादी   सात माह पूर्व सोनी पुत्री सलीम नि0 ग्राम हरदासपुर थाना खीरी टाउन जिला खीरी के साथ तय हुयी थी। किसी कारण वश शादी टूट गई थी हरदासपुर के सम्मानित लोगो के सामने आपसी सुलह समझौता हो गया था। लेन देन भी वापस हो गया था। इससे तिलमिला कर लड़की के पिता सलीम पुत्र की शादी टूसरी जगह करने पर लड़के को जान से मारने की धमकी देने लगा घर वालों ने इस पर ध्यान नहीं दिया सलीम मोसिम से रंजिश मानने लगा।15- अक्टूबर-20 को सलीम ने अपने  साथी द्वारा मेरे पुत्र मोसिम का आटो एल 0 आर 0 पी 0 चौराहे से बुक करवाया। मोसिम आटो लेकर ओयल की तरफ चला मोसिम को ओयल की तरफ इरफान पुत्र बरकत अली व, शाकिर अली पुत्र साबिर अली मोहल्ला हिदायत नगर ने देखा था। बुक कराने वाले आटो को  नहर के पास ले गये। सुनसान जगह पर पहले से लड़की पक्ष के सलीम पुत्र खलील,हफीज पुत्र सलीम,मजहर पुत्र धुरई नि0 ग्राम मझगवा थाना हरगाव जिला सीतापुर के घात लगाए बैठे थे । उक्त लोगों ने मेरे पुत्र मोसिम को दबोच लिया। पहले पत्थरों से काफी मारा। सलीम ने मोसिम का गला छुरा से रेत दिया । ये लोग मोसिम को मरा हुआ समझ कर भाग गये।खबर मिलने पर मेरा पति मुशीर परिवार के साथ मौके पर गया। और पुत्र की गम्भीर हालत होने पर ट्रामा सेन्टर लखनऊ में भर्ती करवाया।होश आने पर पुत्र मोसिम ने बताया।आटो बुक करावाने वाले को वह नहीं जानता था 17/अक्टूबर 2020 को मेरे भाई अनीस ने 0506/2020 धारा 307,506 में एफ आई आर दर्ज कराई अभियुक्त जेल गए हाईकोर्ट से जमानत पर छूटा एक अभियुक्त मजहर पुत्र धुरई ग्राम मझगवा थाना हरगांव जनपद सीतापुर दिनांक 1 अप्रैल 2021को दोपहर 4 बजे मेरे घर पर देसी तमंचे व चाकू हाथ मे लेकर अपने  एक साथी के साथ आया बोला तुम्हारा पति कहां है। मैंने कहा वह काम पर गया है पुत्र को पूछा मैं डर गई मैंने कहा कि वह दवा लेने गया है। इस पर मजहर ने कहा कि हम सब ने तो उसे मरा हुआ समझकर छोड़ दिया था दिन अच्छे हो तो मेरे जीजा सलीम और भांजे हफीज को सुलह करके जेल से निकालो या मोसिम को मेरे हवाले करो वर्ना पूरे परिवार को मौत के घाट उतार दूंगा पुलिस लाश तक नहीं ढूंढ पाएंगी जिसकी मैंने  आन लाइन शिकायत दर्ज कराई जिसकी संदर्भ संख्या 40015321009070 है 7 माह से मै भुखमरी की कगार पर पहुंच गई हूं आठ लाख रुपए पुत्र के इलाज में लगे जिस कारण मेरा रोया रोया क़र्ज़ में डूबा हुआ है। पुत्र किसी काम का नहीं रहा जरा सा काम करने पर गश खाकर गिर जाता है जिसे देख मेरा  मानसिक संतुलन बिगड़ता जा रहा है पूरा परिवार दहशत के साए में जी रहा है।एक तरफ जमानत पर छुटा अभियुक्त मजहर द्वारा मौत के घाट उतार देने की धमकी देना दूसरे कर्जदारों के द्वारा तंग करना पुत्र की हालत देख अंदर ही अंदर घुटना आर्थिक तंगी से जूझ रही हूं  आत्महत्या करने को मजबूर हो गई हूं।

सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *