हत्यारे का बेटा कानपुर से चला रहा था अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह, दो गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश कानपुर देश राज्य शहर
सच दिखाने की जिद...

जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। जनपद के दक्षिण इलाके में पुलिस ने बड़े अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का भंडाफोड़ किया है। गिरोह का सरगना हत्यारे का बेटा है। पुलिस ने सरगना सहित दो अभियुक्तों को गिरफ्तार कर 41 चोरों की बाइकें बरामद की है जो अस्पतालों व स्कूलों के पास से चुराए गए थे। गिरोह के एक फरार साथी की तलाश में पुलिस की टीमें जुटी हुई हैं।
पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) दक्षिण रवीना त्यागी ने मंगलवार शाम अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि नौबस्ता थाना पुलिस ने समाधि पुलिया के पास से एक संदिग्ध व्यक्ति पुलिस को देखकर मोटरसाइकिल पीछे मोड़कर भागने लगा। पुलिस ने युवक को घेरकर पकड़ लिया। गाड़ी के पेपर चेक करने पर गाड़ी चोरी की निकली। पुलिस ने कड़ाई से पूछताछ की तो उसने चौंकाने वाले राज उगल दिये। डीसीपी ने बताया कि, पकड़े गये अभियुक्त की पहचान कठोघर थाना बिधनू निवासी बउवन उर्फ नीरज सिंह ने बताया कि वह बीते तीन सालों से वाहन चोरी में लिप्त है। इस काम में उसका रिश्तेदार छोटे चन्देल उर्फ राजेष सिंह निवासी ग्राम टेढ़ा थाना सुमेरपुर जिला हमीरपुर भी साथ है। उसने बताया कि चोरी की गाडिय़ों में से कुछ गाडिय़ां हमने ग्राहक तलाश कर बेच दी हैं। कुछ गाडिय़ां ग्राहक के तलाश में हम लोगों के घरों पर खड़ी हैं। पुलिस ने उसकी निशानदेही पर दबिश देना शुरू किया और जनपद हमीरपुर के ग्राम टेढ़ा में रहने वाले छोटे चन्देल उर्फ राजेश सिंह के घर से चोरी के 20 वाहन बरामद किये। लेकिन छोटे चंदेल मौके से फरार हो गया। चोरी के 15 वाहन नीरज सिंह और 06 वाहन मोहित चन्देल निवासी ग्राम टेढ़ा के घर से बरामद हुए।
पुलिस को अब तक कुल 41 चोरी के वाहन जो कि विभिन्न थाना क्षेत्र से चोरी किये गये थे बरामद हुए हैं। वाहन चोरी के सम्बन्ध में जनपद के अलग अलग थानों पर एफआईआर भी दर्ज हैं। डीसीपी ने बताया कि गिरोह में शामिल छोटे चन्देल उर्फ राजेश सिंह पुत्र जसवंत सिंह निवासी ग्राम टेढ़ा थाना सुमेरपुर जनपद हमीरपुर की गिरफ्तारी के लिए टीमें लगाई गई हैं।

इन थानों से चोरी हुए थे वाहन
अंतरराज्यीय वाहन चोरों ने पुलिस कमिश्नरेट कानपुर नगर के थाना चकेरी, स्वरूप नगर, कोतवाली, घाटमपुर, नौबस्ता के थानाक्षेत्रों से वाहन चुराए थे। जिनके संबध में इन थानों में मुकदमें भी लिखे हुए हैं।
आजीवन कारावास में बउवन के पिता-चाचा
वाहन चोरी में फंसे बिधनू निवासी बउवन उर्फ नीरज सिंह के पिता शिवविजय सिंह और चाचा दोनों हत्या के मामले में आजीवन कारावास में जेल में बंद है। जबकि मोहित पैसों के लालच में वाहन चोरी करता था।
बनाते थे फर्जी कागज
पुलिस की पूछताछ में नीरज और मोहित ने बताया कि चोरी के वाहन बेचने के लिए वह फर्जी कागज भी तैयार करते थे। फिर जिसको बाइक बेचते थे उनको उसी के नाम पर कागज बनाकर बेच देते थे। पुलिस के मुताबिक गिरोह के निशानदेही पर अभी भी कई वाहन बरामद हो सकते हैं।
25 हजार का इनाम
पुलिस उपायुक्त दक्षिण रवीना त्यागी ने अंतर्राज्यीय वाहन चोरों के गैंग को पकडऩे और इतनी बड़ी संख्या में बरामदगी करने वाली टीम को 25 हजार रुपये व प्रशस्ति पत्र देने की घोषणा की है। टीम में इंसपेक्टर नौबस्ता सतीश कुमार सिंह, एसआई प्रमोद कुमार व मंसूर अहमद, हे.का.सुरेन्द्र कुमार, शंकर बख्श, राजीव कुमार, अरविंद कुमार, कां. विकास चौहान और सौरभ पांडेय शामिल हैं। सर्विलांस टीम के एसआई सुनीत शर्मा व कां. अमित त्रिपाठी हैं।


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *