हर माह नौ तारीख को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व के साथ मनाया जाएगा अंतरा दिवस

उत्तर प्रदेश कानपुर राज्य शहर
सच दिखाने की जिद...

जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। परिवार नियोजन को बढ़ावा देने के लिए अब हर माह की नौ तारीख को अंतरा दिवस मनाया जाएगा। हालांकि इसी तारीख को प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान के तहत गर्भवती की प्रसव पूर्व जांच कर जटिल गर्भावस्था (हाई रिस्क) वाली महिलाओं की पहचान कर लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। इसी दिन अंतरा दिवस मनाये जाने पर अब जनपद की समस्त सीएचसी, यूपीएचसी, पीएचसी, उपकेंद्रों एवं हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर महिलाओं को त्रैमासिक गर्भ निरोधक इंजेक्शन अंतरा की सेवा प्रदान की जाएगी।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. अनिल मिश्र ने बताया कि एसआरएस 2019 के आंकड़ों के अनुसार प्रतिवर्ष उत्तर प्रदेश में गर्भावस्था के समय अत्यधिक रक्तश्राव, उच्च रक्तचाप और असुरक्षित गर्भपात जैसे कारणों की वजह से लगभग 12000 महिलाओं की मृत्यु हो जाती है। इनमें लगभग 3600 माओं को सही समय पर परिवार नियोजन के द्वारा बचाया जा सकता है। सीएमओ ने प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान और अंतरा दिवस के मौके पर परिवार नियोजन की अस्थाई विधियों जैसे- अंतरा इंजेक्शन, छाया, माला-डी, माला-एन, आईयूसीडी व पीपीआईयूसीडी आदि को लाभार्थियों को उपलब्ध कराने के लिए निर्देश दिये हैं।
परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डा. ए के सिंह ने बताया कि कोरोना काल में परिवार नियोजन को बढ़ावा देने के लिये जिले में नौ अप्रैल को विशेष अंतरा दिवस मनाया जाएगा। उन्होंने बताया अंतरा इंजेक्शन अनचाहे गर्भ को रोकने के लिये एक सुरक्षित विकल्प है। यह इंजेक्शन एक बार लगवाने पर तीन माह तक अनचाहे गर्भ से छुटकारा दिलाता है। महिलाओं के प्रजनन स्वास्थ्य में सुधार लाने के लिये अंतरा गर्भ निरोधक इंजेक्शन की शुरुआत की गयी।

आसानी से जुड़ सकती हैं महिलाएं
महिलाएं अंतरा केयरलाइन के टोल फ्री नंबर 1800-103-3044 के जरिए इससे आसानी से जुड़ सकती हैं। टोल फ्री नम्बर डायल करने पर अंतरा से जुड़ी हर समस्या पर उचित सलाह परार्मशदाता से आसानी से मिल जाती है। अंतरा इंजेक्शन लगवाते ही लाभार्थी को अंतरा केयरलाईन नंबर डायल करके पंजीकरण कराना है, ताकि उन्हें समय-समय पर जरुरी सलाह मिलती रहे। सुबह आठ बजे से सायं नौ बजे तक इस नंबर पर कॉल की जा सकती है।

परिवार नियोजन के लाभ
माताएं तथा बच्चे अधिक स्वस्थ होंगे क्योंकि जोखिम पूर्ण गर्भों की रोकथाम हो जाती है। बच्चों की कम संख्या का अर्थ है प्रत्येक बच्चे के लिए अधिक भोजन, बच्चों के जन्म को टालकर युवा महिलाओं व पुरुषों को अपनी शिक्षा पूरी करने तथा अपना भविष्य सुदृढ़ करने का अवसर व समय मिलता है। अगर बच्चे कम हैं तो आप एक दूसरे व बच्चों के साथ अधिक समय गुजार सकते हैं।

 


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *