अंतरराज्यीय एटीएम हैकर गैंग के तीन ठग गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश कानपुर राज्य शहर
सच दिखाने की जिद...

206 एटीएम कार्ड के साथ साढ़े पांच लाख रुपये बरामद

जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। एटीएम मशीनों को हैककर बैंकों से ठगी करने वाला अंतरराज्यीय गैंग क्राइम ब्रांच के हत्थे चढ़ गया। अब तक मिले आंकड़ों के मुताबिक यह गैंग बैंकों से 30 से 40 लाख रुपये की ठगी कर चुका है। पकड़े गये तीनों अभियुक्त जनपद जालौन के रहने वाले हैं और इनके पास से बड़ी मात्रा में एटीएम कार्ड और नकदी भी बरामद हुई है। क्राइम ब्रांच ने नौबस्ता थाना क्षेत्र से तीनों अभियुक्तों को गिरफ्तार करके मुकदमा दर्ज कराया है।
सीवीसी के साथ लिखते थे कोड
अभियुक्तों के पास कई सारे खाते होने के कारण डेबिट कार्ड का पिन याद रखने के लिए कार्ड के सीवीसी में एक अंक जोड कर लिख देते थे, जिससे एटीएम का पिन आसानी से याद रहे। इस प्रकार एटीएम लेने के बाद यह लोग अन्य राज्यों/ जनपदों मे जाकर घटना को अंजाम देते थे। अभियुक्तों द्वारा दिल्ली, छत्तीसगढ़, झारखंड, बिहार व उत्तर प्रदेश के कई जनपदों में वारदातें कर चुके हैं।
शहर छोडऩे की फिराक में थे अभियुक्त
क्राइम ब्रांच ने अभियुक्तों को नौबस्ता चौराहे से दबोच लिया। खुद की घेराबंदी होने के कारण तीनों अभियुक्त शहर छोडऩे की फिराक में थे। पकड़े गये अभियक्तों की पहचान जनपद जालौन के थाना कालपी निवासी रवि कुमार उम्र 22 वर्ष, प्रमोद कुमार उम्र 25 वर्ष और नन्द किशोर उम्र 30 वर्ष के रूप में हुई है। सभी इंटर पास हैं।
यह था अपराध का तरीका
पकड़े गये अभियुक्त किसी के भी नाम पर फर्जी खाता खुलवाकर उसका एटीएम हासिल कर लेते थे। यह खाते सब्जी वाले, कबाड़ी वाले या फिर कोई भी व्यक्ति जिसे रुपयों की जरूरत होती थी। हैकर उसे चार से पांच हजार रुपये देकर उसकी डिटेल पर खाता खुलवा लेते थे और खाता खुलने के बाद उसका डेबिट कार्ड पिन कोड सहित ले लेते थे।
करते थे एटीएम छेडख़ानी
एटीएम से कैश निकालते समय मशीन के कैश शटर को पकड़ कर रखते थे। कैश तो निकलकर आ जाता था लेकिन शटर से छेड़छाड़ करने से ट्रांजेक्शन डिक्लाइन का मैसेज आ जाता था। उसके बाद बैंक के टोल फ्री नम्बर पर बात करके अभियुक्त शिकायत दर्ज करते थे कि बैंक खाते से पैसा कट गया है लेकिन एटीएम से पैसा नहीं निकला। इसी तरह बैको द्वारा शिकायत का समाधान करने के क्रम में बैक द्वारा पैसा रिफंड कर दिया जाता था। पुलिस आयुक्त असीम अरुण ने बताया कि क्राइम ब्रांच ने अभियुक्तों के पास से 5,50,000 रुपये नकद, अलग-अलग बैंकों के 206 एटीएम कार्ड और खातों में 03-04 लाख रुपये के करीब बैंक बैलेंस बरामद किया है। पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया कि वह बीते छह माह से यह काम कर रहे थे। देहात और सूनसान स्थानों पर बने एटीएम को वह अपना निशाना बनाते थे।


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *