उन्नाव कांड : भीम आर्मी प्रमुख रावण को शहर की सीमा पर पुलिस ने रोका

उत्तर प्रदेश कानपुर राज्य शहर
सच दिखाने की जिद...

जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। उन्नाव की तीन दलित युवतियों को जहर दिये जाने और उनमें से दो की मौत के बाद उत्तर प्रदेश की राजनीति में चर्चा का विषय बन गया। विपक्ष लगातार सरकार पर कानून व्यवस्था को लेकर आरोप लगा रहा है। ऐसे में दलितों के बीच अपनी पैठ मजबूत कर रहे भीम आर्मी प्रमुख चन्द्रशेखर आजाद उर्फ रावण भी पीछे नहीं रहने वाले हैं। सोमवार को वह अस्पताल में भर्ती तीसरी युवती को देखने कानपुर पहुंचे, पर पुलिस ने उन्हे सीमा पर ही रोक लिया। पुलिस की कार्रवाई से नाराज रावण समर्थकों संग गंगा बैराज पर ही धरने पर बैठ गया।
असोहा थाना क्षेत्र में पांच दिन पहले तीन युवतियां खेत में बेहोशी की हालत में मिली थीं। इनमें दो की मौत इलाज के दौरान हो गयी और गंभीर हालत में तीसरी युवती को पुलिस ने कानपुर के रीजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया। इसके साथ ही पुलिस ने घटना का खुलासा कर दो आरोपियों को जेल भेज दिया। इस घटना को लेकर सत्ताधारी पार्टी पर विपक्ष लगातार हमलावर है और सरकार को कठघरे में खड़ा करने का प्रयास किया जा रहा है। सोमवार को भीम आर्मी प्रमुख चन्द्रशेखर आजाद उर्फ रावण भी पीडि़ता से मिलने के लिए कानपुर पहुंचने की बात कही थी। जानकारी होते ही कानपुर पुलिस सक्रिय हो गयी और सीमा पर ही रावण को रोके जाने की योजना बना डाली। गंगा बैराज पर जैसे ही रावण का काफिला पहुंचा तो छावनी में तब्दील गंगा बैराज के इलाके में पुलिस ने रोक लिया। पुलिस की इस कार्रवाई नाराज रावण समर्थकों संग सडक़ पर ही धरना दे दिया और पुलिस व सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गयी।


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *