डीएम की अध्यक्षता में आयोजित हुई टीकाकरणो की समीक्षा बैठक 

उत्तर प्रदेश
सच दिखाने की जिद...

नियमित टीकाकरण तथा कोविड वैक्सीनेशन का जिलाधिकारी ने किया गहन समीक्षा
  टीकाकरण में प्रगति ना लाने पर अधिकारियों को डीएम ने दी कार्यवाही की चेतावनी
बलरामपुर जिले में चल रहे  कोरोना टीका करण तथा  नियमित टीकाकरण  की  बुधवार को  जिला अधिकारी में  समीक्षा की। कार्यक्रम मे कोविड-19  टीकाकरण की समीक्षा के दौरान मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि 1 मार्च से कोविड-19 टीकाकरण का तृतीय फेज प्रारंभ हो गया है इसके तहत 60 वर्ष या उसे अधिक आयु के व्यक्ति व 45 वर्ष से 59 वर्ष की आयु के सहरुग्णता से ग्रसित व्यक्तियों का टीकाकरण किया जाएगा। संबंधित लाभार्थी आरोग्य सेतु एप के माध्यम से रजिस्ट्रेशन करा कर टीकाकरण का लाभ ले सकते हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जनपद में 60 वर्ष या उससे अधिक आयु के 1 लाख 90 हजार लाभार्थियों का टीकाकरण किया जाना है। जिसमें कि मार्च माह में 47 हजार लाभार्थियों का टीकाकरण किया जाना है। जिलाधिकारी द्वारा जिला कार्यक्रम अधिकारी, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक,जिला पंचायत राज अधिकारी, समस्त एसडीएम, समाज कल्याण अधिकारी,अधिशासी अधिकारी, को 60 वर्ष या उससे अधिक आयु के लाभार्थियों को कोविड-19 टीकाकरण हेतु मोबिलाइज किए जाने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी द्वारा समस्त ब्लॉकों के चिकित्साधिकारियों को कोविड-19 टीकाकरण हेतु सेशन साइट बढ़ाकर लक्ष्य अनुरूप शत प्रतिशत टीकाकरण किए जाने का निर्देश दिया गया।
     जिलाधिकारी द्वारा नियमित टीकाकरण की गहन समीक्षा की गई। मॉनिटरिंग संस्था डब्ल्यूएचओ एवं यूनिसेफ द्वारा नियमित टीकाकरण पर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत की गई जिसमें की अप्रैल 2020 से फरवरी 2021  तक 5090 बच्चों के नियमित टीकाकरण का सर्वे किया गया, जिसमें कि 79% बच्चों का नियमित टीकाकरण हुआ। 16% बच्चों का पार्सियल टीकाकरण एवं 4% बच्चे टीकाकरण से छूट गए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि नियमित टीकाकरण में प्रगति लाए जाने हेतु प्रत्येक ब्लॉक में नियमित टीकाकरण नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। जिलाधिकारी द्वारा नियमित टीकाकरण में कम प्रगति वाले ब्लॉक बलरामपुर अर्ब, गैडास बुजुर्ग, गैसड़ी,पचपेड़वा,शिवपुरा   ब्लॉकों के ब्लॉक मोबिलाइजर को तलब करते हुए नियमित टीकाकरण में प्रगति लाए जाने का निर्देश दिया गया जिलाधिकारी ने कहा कि नियमित टीकाकरण में सुधार ना होने पर संबंधित ब्लॉक मोबिलाइजर व एमओआईसी की जिम्मेदारी मानते हुए कार्यवाही की जाएगी। जिलाधिकारी द्वारा समस्त सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर प्रतिदिन नियमित टीकाकरण किए जाने व उसकी रिपोर्ट प्रतिदिन पोर्टल पर अपलोड किए जाने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि नियमित टीकाकरण के महत्वकांक्षी जनपद के तहत नीति आयोग के मानक में सम्मिलित है। नियमित टीकाकरण में किसी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं की जाएगी। जिलाधिकारी ने कहा कि समस्त एमओआईसी नियमित तौर पर नियमित टीकाकरण की समीक्षा करें। जिलाधिकारी ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित समस्त योजनाओं का बेहतर ढंग से संचालन करते हुए आम जनमानस को स्वास्थ्य योजनाओं का लाभ दिया जाना सुनिश्चित किया जाए।
बैठक में जिलाधिकारी द्वारा द्वारा 10 मार्च से प्रारंभ आयुष्मान कार्ड अभियान की समीक्षा की गई। जिलाधिकारी ने समस्त एमओआईसी को निर्देशित किया कि प्रत्येक परिवारों को गोल्डन कार्ड दिए जाने हेतु कार्ययोजना बनाकर लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड प्रदान करे। जिलाधिकारी ने अपील की कि जो परिवार आयुष्मान भारत योजना में पात्र हैं अवश्य गोल्डन कार्ड बनवाएं, आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभार्थी परिवार को ₹5 लाख तक कैशलेस स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराया जाता है, लाभार्थी परिवार को आयुष्मान कार्ड बनवाने हेतु किसी प्रकार का शुल्क नहीं देना होगा,लाभार्थी अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं।
बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विजय बहादुर सिंह, जिला प्रतिरक्षा अधिकारी डॉ अरुण कुमार, उप जिलाधिकारी बलरामपुर अरुण कुमार गौड़,उप जिलाधिकारी तुलसीपुर विनोद कुमार सिंह, उप जिलाधिकारी उतरौला नागेंद्र नाथ यादव,समस्त क्षेत्राधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी के एम पांडे, डब्ल्यूएचओ के डॉ उपान्त डोगरे, शिखा श्रीवास्तव, समस्त एमओआईसी व जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी अरविंद मिश्र व अन्य संबंधित अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।

सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *