जिले में रविवार को साप्ताहिक बंदी, लगा 35 घंटे का कोरोना कर्फ्यू

उत्तर प्रदेश
सच दिखाने की जिद...

शादियों में बंद स्थानों पर 50 व्यक्ति व खुले स्थानों पर 100 व्यक्तियों की अनुमति
बलरामपुर। जनपद बलरामपुर में कोविड 19 महामारी के तेजी से फैलने के कारण जिला प्रशासन ने सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है। जिला प्रशासन ने तीन आदेश जारी कर जिले में सभी दिन नाइट कर्फ्यू, एक दिन साप्ताहिक बंदी और 35 घंटे का कोरोना कर्फ्यू लागू किया है। इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी दुकानों व आवागमन पर प्रतिबंध रहेगा।
                 जिलाधिकारी श्रुति ने जारी आदेशों में कहा है कि जिले में कोविड 19 एक्टिव केसों की संख्या 500 से अधिक हो जाने के कारण महामारी के प्रसार पर प्रभावी रोकथाम करना आवश्यक है, इसलिए जिले में तत्काल प्रभाव से रात्रि 09 बजे से सुबह 06 बजे तक रात्रि कालीन कर्फ्यू लगाया जाता है। इस दौरान जिले में आवश्यक सेवाओं, गतिविधियों को छोड़कर किसी भी व्यक्ति, वाहन आदि का आवागमन पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा। इसके साथ ही जिले में धारा 144 पहले की ही तरह लागू रहेगी।
जिलाधिकारी ने बताया कि कोविड संक्रमण के प्रसार को देखते हुए यह आवश्यक है कि पूरे जिले में सप्ताह में एक ही दिन बाजार बंदी की व्यवस्था लागू की जाए। इसी को देखते हुए पूर्व में जारी सभी आदेशों को निरस्त करते हुए जिले के समस्त बाजारों में रविवार को साप्ताहिक बंदी का आदेश जारी किया गया है। रविवार को जिले में दवा, फल, सब्जी, दूध, डेयरी, रेटोरेंट और भोजनालय को छोड़कर समस्त व्यवसायिक प्रतिष्ठान और बाजार बंद रहेंगें। उन्होने बताया कि इस दौरान दुकानों के खुलने का समय सुबह 06 बजे से रात्रि 09 बजे तक होगा। इसके बाद सभी दुकानें बंद हो जाएंगी। जिलाधिकारी श्रुति ने बताया कि इसके अलावा शासन के निर्देश पर जिले में 35 घंटे का कोरोना कर्फ्यू लगाया जा रहा है। जो कि 17 अप्रैल शनिवार की रात 08 बजे से 19 अप्रैल सोमवार की सुबह 07 बजे तक लागू रहेगा। इस दौरान आवश्यक सेवाओं, पंचायत चुनाव से जुड़ी पोलिंग पार्टियां, स्वास्थ्य सेवाएं, सफाई से जुड़े हुए कर्मियों के अतिरिक्त कोई अन्य आवागमन नहीं होगा। उन्होने बताया कि तत्काल प्रभाव से प्रत्येक शहर व ग्रामीण क्षेत्र में प्रत्येक व्यक्ति द्वारा मास्क का प्रयोग अवश्य किया जाएगा। आदेश का अनुपालन न करने वाले व्यक्ति पर पहली बार में 1000 रूपये तथा दूसरी बार में अधिकतम रू0 10,000 तक का जुर्माना किया जायेगा। इस आदेश का कड़ाई से पालन करवाने हेतु संबंधित को निर्देशित किया जा चुका है।
श्रमिकों को काम पर जाने के लिए होगी छूट
अपर जिलाधिकारी अरूण कुमार शुक्ला ने बताया कि 35 घंटे के कोरोना कर्फ्यू के दौरान श्रमिकों को उनके कार्यस्थलों पर आवाजाही की अनुमति दी जाएगी। शनिवार व रविवार को सभी शादियां बंद स्थानों के अंदर 50 व्यक्तियों के प्रतिबंध और खुले स्थानों पर 100 व्यक्तियों के साथ कोविड गाइडलाइन, मास्क, सामाजिक दूरी और सैनिटाइजर के उपयोग के साथ सावधानियां बरतते हुए अनुमति दी जाएगी। सभी परीक्षाओं जैसे एनडीए आदि की अनुमति दी जाएगी और परीक्षार्थियों और उम्मीदवारों का आईडी कार्ड पास के तौर पर मान्य होगा। सार्वजनिक परिवहन को विशेष रूप से राज्य परिवहन की बसों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ चलने की अनुमति दी जाएगी और अंतिम संस्कार की सेवाओं में 20 से अधिक व्यक्तियों को अनुमति नहीं दी जाएगी।

सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *