Friday, December 9, 2022
spot_imgspot_img
Homeदेशकिसानों से सीधे गेंहू खरीद दिनांक 01अप्रैल से 

किसानों से सीधे गेंहू खरीद दिनांक 01अप्रैल से 

।अपर जिलाधिकारी एसपी सिंह ने बताया कि रबी विपणन वर्ष 2021-22 में दिनांक 01अप्रैल 2021 से किसानों से सीधे गेहूं क्रय किया जाएगा।इसके लिए कृषकों को विभागीय पोर्टल पर अपना पंजीकरण करना अनिवार्य होगा।पंजीकरण के संबंध में उन्होंने बताया कि कृषक द्वारा स्वयं अथवा उसके परिवार के किसी नामित सदस्य द्वारा क्रय केंद्र पर गेहूं विक्रय किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि कृषक तथा उसके परिवार के एक नामित सदस्य का आधार नंबर फीड करने की व्यवस्था व इस आधार नंबर की पंजीकरण के समय ही सीडिंग कराई जाएगी।आधार नंबर गलत होने की दशा में किसान अपना पंजीकरण लाक नहीं कर सकेगा।किसान एक बार स्वयं पंजीकरण कर सकता है।और इसके अतिरिक्त किसान के नामिनी के रूप में परिवार के सदस्य का एक बार पंजीकरण किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि पंजीकरण प्रपत्र में परिवार के सदस्य के रूप में किसान के साथ संबंध चयन करने का विकल्प दिया गया है। एक कृषक द्वारा सीलिंग एक्ट में अनुमन्य अधिकतम भूमि जोड़ने की सीमा 12.5 एकड़ की गई है।इससे अधिक होने पर जिला खरीद अधिकारी के लॉगिन पर डीएससी से लाक कर सत्यापन किया जाएगा। उप जिलाधिकारी द्वारा नाम सत्यापन चकबंदी ग्राम अंतर्गत, हिस्सेदारी, बटाईदार 100 कुंतल से अधिक मात्रा का पंजीकरण सत्यापन डीएससी द्वारा लाक किया जाएगा। उन्होंने बताया कि खाद्य विभाग की वेबसाइट को भूलेख से लिंक कराया गया है। पंजीकरण प्रपत्र में भूमि विवरण जोड़ने के विकल्प में भूलेख पोर्टल से केवल उन्हीं भूमि को जोड़ा जा सकेगा,जो कृषि योग्य होंगी जिनमें राजस्व संहिता के प्रावधानों के तहत खेती करने के लिए अधिकृत हैं। जो कृषक खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 में धान खरीद हेतु पंजीकरण करा चुके हैं, उन्हें गेहूं विक्रय हेतु पंजीकरण करने की आवश्यकता नहीं होगी, आवश्यक संशोधन कर पुनः लाक करना होगा। किसान के मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजा जाएगा जिसके माध्यम से पंजीकरण प्रक्रिया को लाक कर पूर्ण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि किसान का मोबाइल नंबर,बैंक खाता संख्या व आधार नंबर यूनिक रखा गया है। अतः उक्त तीनों से केवल एक बार ही पंजीकरण किया जा सकेगा, साथ ही किसान के पंजीकरण प्रपत्र में ही पावती का विकल्प भी दिया गया है। किसान द्वारा केंद्र पर गेहूं विक्रय करने के पश्चात केंद्र प्रभारी द्वारा पंजीकरण प्रपत्र में उपलब्ध निर्धारित प्रारूप पर पावती दी जाएगी।
RELATED ARTICLES

Cricket live Update

- Advertisment -spot_imgspot_img
- Advertisment -spot_imgspot_img

Most Popular