एल एलबी तृतीय वर्ष के 95 % छात्र फेल

देश
सच दिखाने की जिद...
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

कुलपति को ज्ञापन सौंपकर की जांच की मांग
आगरा। एल एलबी तृतीय वर्ष का परीक्षा परिणाम विश्वविद्यालय ने हाल ही में जारी किया है। एल एलबी के तृतीय वर्ष के छात्रो ने जब अपने परिणाम देखे तो वह फेल थे। इस सम्बन्ध में मथुरा के बीएस ए कॉलेज के छात्रों ने आगरा कुलपति अशोक मित्तल को ज्ञापन सौंपकर सारी बात की जानकारी दी। छात्रॊ ने कहा कि एल एलबी के तृतीय वर्ष के छात्रों असफल होने का कारण यूनिवर्सिटी व विश्वविद्यालय के शिक्षणगण द्वारा मनमानी तरीके से परीक्षा कराना है। कोविड 19 महामारी को देखते हुए शिक्षकों ने कहा कि विधि की अन्तिम वर्ष की लिखित परीक्षा न करायी जाएं। इससे कोरोना होने का खतरा है। इसलिए विश्वविद्यालय ने सिर्फ शिक्षकों के स्वास्थ्य को देखते हुए एल एलबी तृतीय वर्ष की परीक्षा लिखित ना कराकर ओएम आर शीट पर करार्इ। यह प्रतियोगी परीक्षाओं के आधार पर थी। लेकिन महाविद्यालय में लिखित परीक्षा के अनुसार पर ही अध्ययन कराया गया। लेकिन विधि की परीक्षाओं के लिए बहुविकल्प परीक्षा के लिए अध्ययन कैसे हो सकता था। एल एलबी तृतीय वर्ष की परीक्षा की तारीख से एक सप्ताह पहले जारी हुर्इ छात्रों में संशय बना हुआ था कि परीक्षाएं किस प्रकार होंगी। परीक्षाओं के समय भी छात्रों को समय नहीं मिला जिससे अन्य विषय की तैयारी कर सकें।‌ और पाठ्यक्रम से सम्बंधित सामग्री भी उपलब्ध ना हो सकी। साथ ही विश्वविद्यालय और शिक्षकों की मनमानी की वजह से छात्रों को असफलता का सामना करना पड़ रहा है। विश्वविद्यालय में कुलपति अशोक मित्तल को ज्ञापन सौंपने आये छात्र देवेन्द्र सिंह ने बताया कि चार जिलों की विधि परीक्षाएं आयोजित हुर्इ। जिसमें 95% छात्र फेल हैं। और 5% छात्र पास हैं। छात्रों के फेल होने कारण यूनिवर्सिटी है। कुलपति अशोक मित्तल द्वारा किसी तरह का आश्वासन नहीं दिया गया है। केवल एक हफ्ते का समय यूनिवर्सिटी ने छात्रों से मांगा है। इसके बाद असफल हुए छात्रों की जांच होगी। छात्र ने बताया कि प्रत्येक परीक्षा 100 अंको की हुआ करती थी जिसके बाद ऒएम आर शीट पर वह परीक्षा 70 अंकों की हुर्इ । जिसका कोर्इ आधार ही नहीं। इस बारे में हिमान्शू पांडे ने कहा कि यूनिवर्सिटी के अधिकारियों को जल्द छात्रहित में एक्शन लेकर छात्रॊं को संतुष्ट करना चाहिये।

सच दिखाने की जिद...
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *