जिले में संचालित हो रही है सक्षम बिटिया अभियान, जिला प्रशासन और पीरामल फाउंडेशन द्वारा चलाया जा रहा है यह कार्यक्रम

देश
सच दिखाने की जिद...
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

बलरामपुर|  कोरोना महामारी की वजह से पूरे देशभर की शिक्षा व्यवस्था प्रभावित हुई है, हमारे विद्यालय, कॉलेज भी काफी महीनों से बंद चल रहे हैं, इस क्षति से बाहर निकलने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार अनेको प्रयास कर रही हैं,  ताकि छात्रों के सीखने-सिखाने और पढने-पढ़ाने की प्रक्रिया को मजबूती दी जा सके l इसको ध्यान में रखते हुए नीति आयोग के मार्गदर्शन में आकांक्षी जिलातर्गत एक महत्वपूर्ण कार्यक्रम “सक्षम बिटिया अभियान” की अनूठी पहल की गई है जिसमें सामाजिक, भावनात्मक एंव नैतिक शिक्षा आधारित  गतिविधियों को कला, कविता, खेल, नाटक, हेल्थ और वैलनेस जैसे थीम करिकुलम के ज़रिये छात्रों को शिक्षा से जोड़ा जा रहा है. इस अभियान का महतवपूर्ण उद्देश्य शिक्षित युवा बालिकाओं द्वारा कक्षा 2 से कक्षा 6 तक पढ़ने वाली बच्चियों हेतु कक्षाए संचालित कर शिक्षित करना है l
नीति आयोग और बलरामपुर जिला प्रशासन के तत्वाधान में जिले के अनतर्गत “सक्षम बिटिया अभियान” चलाया जा रहा है इस अभियान के सम्पूर्ण संचालन की ज़िम्मेदारी “पीरामल फाउंडेशन” को दी गई है, जिले में कार्यरत पीरामल टीम जिले में मौजूद शिक्षित युवाओं और नेहरु युवा केंद्र, एनएसएस , एंव जिले में मौजूद कॉलेज के छात्रों तक अपनी पहुँच बना कर उनको ट्रेनिंग तथा चलाई जा रही कक्षाओं से सम्बंधित सामग्री प्रदान करते हुए जुड़े हुए वालंटियरों को वर्चुअल और फील्ड विजिट के माध्यम से सहयोग भी दे रही है ताकि अभियान के अंतर्गत चलाई जा रही कक्षाएं गुणवर्तापूर्ण संचालित होती रहे, कक्षाओं को संचालित करने से पहले सभी वालंटियर्स को कोविद-19 सम्बंधित जानकारियां भी दी गई हैं जिसमें की कक्षाओं के समय वालंटियर और स्टूडेंट्स को मास्क पहनना और सोशल डिसटेंसिंग का पालन करना अनिवार्य किया गया है, मिशन प्रेरणा और मिशन शक्ति राज्य स्तर कार्यक्रम में सक्षम बिटिया अभियान एक सहयोगी अभियान के रूप में मदद कर रहा है l वालंटियर द्वारा इस अभियान के सिमित समय को पूरा करने के पश्चात् सभी को प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जायेगा l

सच दिखाने की जिद...
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *