अप्रैल तक ‘जाजमऊ की सडक़’ बनाए जाने के सख्त निर्देश

उत्तर प्रदेश कानपुर राज्य शहर
सच दिखाने की जिद...

जन एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। जलनिगम और लोक निर्माण विभाग की हीलाहवाली से जाजमऊ पुरानी चुंगी से सीईटीपी वाजिदपुर तक की सडक़ पिछले छह माह से अपनी बदहाली से परेशान है। दोनों विभाग एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं और जमीन पर काम कुछ नहीं हो रहा है। इसको लेकर मंडलायुक्त डा. राजशेखर ने बुधवार को स्थलीय निरीक्षण किया और दोनों विभागों को साफ कहा कि सामंजस्य बनाकर हर हाल में अप्रैल तक सडक़ का निर्माण हो जाना चाहिये।
जाजमऊ सडक़ की स्थिति ऐसी हो गयी है कि यहां पर आम लोगों का निकलना तक दुश्वार हो चला है लेकिन पेयजल लाइन की मरम्मत से लेकर सीवर लाइन का काम खत्म ही नहीं हो पा रहा है। लोक निर्माण विभाग के अधिकारी कह रहे हैं कि जब जलनिगम पूरा काम खत्म कर देगा, तब ही सडक़ को बनाया जाएगा। वहीं जलनिगम के अधिकारी हमेशा की तरह इस बार भी बजट का रोना रो रहे हैं। ऐसे में जनता के सामने आ रही दुश्वारियों से नाराज मंडलायुक्त डा. राजशेखर ने इस सडक़ को तीन पार्ट में बनाने के निर्देश दिए हैं। इसके बावजूद अब लापरवाही मिलती है तो न केवल ठेकेदार को ब्लैक लिस्ट किया जाएगा बल्कि मंडलायुक्त ने दो टूक कहा है कि वह जलनिगम के जिम्मेदार अफसरों पर कार्रवाई के लिए शासन में संस्तुति करेंगे। बता दें कि पेयजल लाइन की मरम्मत से लेकर सीवर लाइन डालने की वजह से जाजमऊ पुरानी चुंगी से सीईटीपी वाजिदपुर तक की जगह-जगह खुदी पड़ी है। 2.8 किलोमीटर लंबी इस सडक़ को लेकर स्थानीय लोग परेशान हैं और अफसरों से इसको लेकर गुहार लगा रहे हैं। छह महीने से अधिक समय तक खुदी पड़ी इस सडक़ का बुधवार को कमिश्नर डॉ. राज शेखर ने मुआयना किया। यहां पर जब मंडलायुक्त ने पूछताछ की तो लोक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता ने बताया कि इस सडक़ के लिए उनके पास 82 लाख का बजट है लेकिन जलनिगम अभी तक खुदाई का काम पूरा नहीं कर पाया है। ऐसे में जब तक जलनिगम यहां पर अपना काम खत्म नहीं करता, तब तक सडक़ का निर्माण संभव नहीं है। मंडलायुक्त ने जब जीएम जलनिगम से पूछा तो उन्होंने बजट का रोना रोते हुए कहा कि इन लंबित कार्यों को पूरा करने के लिए उन्हें 1.2 करोड़ रुपये की आवश्यकता है। यह बजट नमामि गंगे मुख्यालय से नहीं मिल पा रहा है। यहां के कार्यों को करीब तीन माह में खत्म करने की उन्होंने बात कही। इसके बाद नाराज मंडलायुक्त ने इस सडक़ का निर्माण तीन पार्ट में करने के निर्देश दिए।
हर माह के हिसाब से एक किलोमीटर सडक़ का निर्माण किया जाएगा। मंडलायुक्त के मुताबिक, जाजमऊ चौकी से पहला एक किलोमीटर 10 मार्च तक और फिर अगला एक किलोमीटर का हिस्सा 10 अप्रैल तक और आखिरी 800 मीटर का कार्य 30 अप्रैल तक पूरा किया जाएगा। मंडलायुक्त ने कहा कि समय से काम नहीं होता है तो न केवल संबंधित ठेकेदार ब्लैक लिस्ट होगा बल्कि जलनिगम अफसरों के खिलाफ भी वह कार्रवाई की संस्तुति शासन में करेंगे।

 


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *