प्रेरक विद्यालय बनाने के लिए प्रयास करें अध्यापक-खंड शिक्षा अधिकारी

उत्तर प्रदेश राज्य
सच दिखाने की जिद...

जन एक्सप्रेस/विष्णु गोपाल दीक्षित।
बेलरायां खीरी। तहसील निघासन की न्याय पंचायत गुलरिहा पत्थर शाह के उच्च प्राथमिक विद्यालय भेडॉरी में संकुल प्रभारियों सहित अध्यापकों की मासिक बैठक को संबोधित करते हुए खण्ड शिक्षा अधिकारी दिनेश कुमार वर्मा ने अध्यापकों को प्रेरक विद्यालय बनाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा बच्चों को पढ़ाने के तरीकों में अब नवाचार की जरूरत है। बाल केंद्रित शिक्षा में बच्चों को खेल खेल में विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से शिक्षित करने का प्रयास करना होगा। सीखने की  पुरानी पद्धतियों को अब बदलना होगा। शासन ने अब प्रत्येक कक्षा के लिए बच्चों की अपेक्षित दक्षताएं तय कर दी हैं। इन दक्षताओं को बच्चों में विकसित करने की जिम्मेदारी अब अध्यापकों की है। गौरतलब है कि मार्च 2022 तक प्रदेश को प्रेरक प्रदेश बनाने के उद्देश्य से शासन ने प्रत्येक कक्षा के बच्चों  में भाषा और गणित विषय की अपेक्षित दक्षताएं निर्धारित कर दी हैं। अपेक्षित दक्षताओं की सूची विद्यालय की दीवार पर चस्पा की गई है। लापरवाह शिक्षक अब होशियार हो जाएं।सबकी ऑनलाइन मॉनिटरिंग की व्यवस्था की गई है। विद्यालय के सभी लोग प्रेरक विद्यालय बनाने के लिए जुट जाएं। इसके अतिरिक्त अनुसूचित जनजाति बच्चों की छात्रवृत्ति हेतु आवेदन की प्रगति, मिशन कायाकल्प के तहत विद्यालय में कराए गए कार्यों की प्रगति, जूता मोजा, सहज पुस्तक वितरण आदि की प्रगति जांची गई। इस मौके पर न्यायपंचायत के संकुल प्रभारी अभिषेक बाजपेयी, कपिल द्विवेदी, सुधांशू पंत, शरद गुप्ता और अध्यापक अमित कटियार, विनोद खन्ना, गंगाराम, विनय प्रताप, राकेश मिश्रा,अपराजिता लाहिड़ी आदि मौजूद रहे।

सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *