फिसड्डियों व टिड्डियों की फौज फैला रही भ्रम : नकवी

उत्तर प्रदेश कानपुर राज्य राष्ट्रीय शहर
सच दिखाने की जिद...

न एक्सप्रेस संवाददाता
कानपुर नगर। शहर में केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शनिवार को खास शख्सियतों द्वारा ट्वीट करके किसान आंदोलन को इंटरनेशनल बनाये जाने व उसकी ब्रांडिंग के सवाल पर जवाब दिया कि देश में सीएए और अन्ना आंदोलन भी इंटरनेशनल हुए थे, लेकिन वह पाकिस्तान से लेकर कहां-कहां तक पहुंचा था। लेकिन हमारी जनता नेशनल है।
उन्होंने कहा कि क्रिमिनल कॉन्सीपिरेसी का संदूक और किसानों के कंधे पर बंदूक, ये एक्सपोज होगा। हमारी किसान आंदोलन से जुड़े टॉप नेताओं से बात हो रही है। 26 जनवरी की घटना क्रिमिनल कॉन्सीपिरेसी को स्वीकार नहीं किया जाएगा। कहा कि, हमारी टॉप नेताओं से बात हो रही है। 26 जनवरी की घटना क्रिमिनल कॉन्सीपिरेसी बताते हुए कहा कि देश के गौरव व सम्मान में यह स्वीकार नहीं है। दोषियों पर कार्रवाई होगी। सर्किट हाउस में पत्रकारों से बातचीत में केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि पूर्व में भी देश की जनता ने ऐसी साजिशी सुपारी का देश की जनता ने सूपड़ा साफ किया है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने सबका साथ-सबका विश्वास की नीति से इस तरह के क्रिमिनल कॉन्सीपिरेसी करने वालों के चेहरे बेनकाब हो चुके हैं। फिसड्डियों व टिड्डियों की फौज किसानों में भ्रम फैला रही है। सरकार ने किसानों से बातचीत के रास्ते हमेशा खोल रखे है।
पीएम फसल बीमा योजना का देश के छोटे किसानों को फायदा
उन्होंने कहा कि, मोदी सरकार किसानों के सशक्तीकरण को समर्पित है। एमएसपी में डेढ़ गुना वृद्धि की जा चुकी है। गेहूं के किसानों को एमएसपी के तहत वर्ष 2020-21 में 75,100 करोड़ का भुगतान किया गया। इसी तरह धान के किसानों को 1,72,700 करोड़ का भुगतान किया गया। छोटे और सीमांत किसानों के खातों में पीएम किसान सम्मान निधि के तहत 1.13 लाख करोड़ ट्रांसफर किये गए। पीएम फसल बीमा योजना का देश के छोटे किसानों को फायदा हुआ।
आत्मनिर्भर भारत की दिशा देने वाला है बजट
केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने हाल में ही पेश बजट को देश को आत्मनिर्भर बनाने वाला बताया। उन्होंने कहा कि, इसमें इंफ्र्रास्ट्रक्चर पर ध्यान दिया गया है। स्वास्थ्य क्षेत्र में सुधार को आगे बढ़ाया गया है। कोरोना वैक्सीन पर 35 हजार करोड़ खर्च किए जा रहे हैं। डेयरी क्षेत्र में बुनियादी ढांचे की स्थापना और निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए 15 हजार करोड़ के पशुपालन अवसंरचना विकास कोष की स्थापना की गई। इसी तरह बजट में हर क्षेत्र को मजबूत करने की कोशिश की गई है।


सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *