हिंदू युवा वाहिनी ने मेयर को सौंपा ज्ञापन, आगरा के इस मेट्रो स्टेशन का नाम बदलवाने की उठाई मांग

उत्तर प्रदेश
सच दिखाने की जिद...

आगरा। बिजलीघर चौराहे का नाम शिवाजी चौक और जामा मस्जिद मेट्रो स्टेशन का नाम बिजलीघर या फिर शिवाजी चौक किए जाने को लेकर हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने महापौर नवीन जैन से मुलाकात की। हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं ने महापौर नवीन जैन को ज्ञापन सौंपा और बिजली घर चौराहे का नाम शिवाजी चौक किए जाने के साथ-साथ बिजली का चौराहा के मध्य गोल पार्क में छत्रपति शिवाजी महाराज की मूर्ति का अनावरण करने की मांग की। महापौर नवीन जैन ने हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ताओं को इस संबंध में उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया।
शुक्रवार को हिंदू युवा वाहिनी के एक प्रतिनिधिमंडल ने महापौर नवीन जैन से मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान हिंदू युवा वाहिनी के महानगर अध्यक्ष तरुण सिंह ने महापौर नवीन जैन से बिजलीघर चौराहा और जामा मस्जिद मेट्रो स्टेशन के प्रस्तावित नाम को परिवर्तित किए जाने की मांग करते हुए ज्ञापन सौंपा। उन्होंने बिजली घर चौराहे का नाम शिवाजी चौक और प्रस्तावित जामा मस्जिद मेट्रो स्टेशन के नाम को बिजलीघर चौराहा है या फिर शिवाजी चौक के नाम पर रखे जाने की मांग उठाई। इस दौरान उन्होंने इसके इतिहास से भी रूबरू कराया।
हिंदू युवा वाहिनी के अध्यक्ष तरुण सिंह ने महापौर को बताया कि उक्त स्थान को पूर्व में उस स्थान के निकट संचालित बिजलीघर के नाम से जाना जाता था किंतु वर्तमान में बिजली घर एक जमीन की टुकड़ी के रूप में अवशेष बचा है जो पूर्व में कोयले से संचालित हुआ करता था। पर्यावरण एवं ताजमहल को होने वाले नुकसान को देखते हुए लगभग चार दशक से भी अधिक समय पूर्व इसे बंद कर दिया गया।
सन 1967 में उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री चौधरी चरण सिंह ने इस समय बिजली घर चौराहे के मध्य गोल पार्क में छत्रपति शिवाजी महाराज की मूर्ति स्थापित की गई थी और चौराहे के नाम की घोषणा शिवाजी चौक के रूप में की गई। यह सभी तथ्य लिखित दस्तावेजों में सुरक्षित भी है।
इसके साथ ही हिंदू युवा वाहिनी के अध्यक्ष तरुण सिंह ने प्रस्तावित जामा मस्जिद मेट्रो स्टेशन के नाम को भी परिवर्तन किए जाने की मांग की। उनका कहना था कि प्रथम कॉरिडोर सिकंदरा से ताज पूर्वी गेट तक के मध्य जामा मस्जिद मेट्रो स्टेशन बिजली घर चौराहे पर प्रस्तावित है जबकि जामा मस्जिद मेट्रो स्टेशन का नाम पूर्व में बनी रूट सर्वे रिपोर्ट में उक्त स्थान पर प्रस्तावित हुआ था, जहां वर्तमान में जामा मस्जिद स्थित है किंतु संशोधित रिपोर्ट में यह स्टेशन अब वहां से लगभग 200 मीटर दूर हटाकर बिजली का चौराहे पर फाइनल किया गया है। अतः उक्त स्थान की पूर्व अंकित छवि को दृष्टिगत रखते हुए चौराहे पर विराजमान छत्रपति शिवाजी महाराज के आगरा के ऐतिहासिक संस्मरण को ध्यान में रखते हुए मेट्रो स्टेशन का नाम जामा मस्जिद की जगह शिवाजी चौक या फिर बिजली घर रखा जाए।
Attachments area

सच दिखाने की जिद...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *