Thursday, December 9, 2021
spot_imgspot_img
Homeशहरअयोध्याप्रभु राम की धरती पर ब्रह्म समाज का शंखनाद

प्रभु राम की धरती पर ब्रह्म समाज का शंखनाद

राजनीति में शुचिता लाने में जुटे ब्राह्मण-शंकराचार्य

शंकराचार्य की अगुवाई में लिया गया एकजुटता और सनातन धर्म को मजबूत बनाने का महासंकल्प

अयोध्या। जगतगुरु शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती महाराज की अगुवाई में आज प्रभु श्रीराम की पावन धरती अयोध्या में सनातन धर्मी ब्रह्म समाज का बडा शंखनाद हुआ। देश के विभिन्न राज्यों से जुटे संगठनों ने सनातन और ब्राह्मण समाज की एकता और उनके उत्थान के लिये अपनी आवाज को बुलंद किया। इस मौके पर शंकराचार्य ने ब्राह्मणों से संगठित होकर सनातन धर्म को सजबूत करने का आवाहन किया।

सनातन धर्मी और ब्राह्मण संगठनों को एकजुट करने के लिये गठित ब्रह्म सागर द्वारा अयोध्या के रामकथा पार्क में आयोजित मंथन शिविर को सम्बोधित करते हुए जगद्गुरु शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती ने कहा कि सरकार, राजनीति और समाज को दिशा देने का कार्य ब्राह्मणों का है लेकिन आज की राजनीति के मायने बदल चुके है। ब्राह्मणों को समाज और राजनीति में शुचिता लाने के हर संभव प्रयास करने होंगे।

सरयू तट पर स्थित रामकथा पार्क में लगे मंथन शिविर में भगवा रंग के वस्त्रों में जुटे साधु-संतों तथा विभिन्न ब्राह्मण संगठनों के सदस्यों ने देश भर के सनातन धार्मियों को एकजुट करने का महासंकल्प लिया। ब्रह्म सागर के राष्ट्रीय अध्यक्ष कैप्टन एस के द्विवेदी ने शंकराचार्य जी के आशीर्वाद से ब्राह्मणों को एक नयी ताकत के रूप में एकत्र करने का संकल्प दोहराया और कहा कि सभी ब्राह्मण, ब्राह्मण संगठन एकत्रित होकर अपने शक्ति को पहचाने और अपने अधिकार के लिए आवाज मुखर करें। उन्होने कहा कि आपसी बिखराव की वजह से आबादी के अनुपात में ब्रमहणों को समाजिक न्याय नही मिल रहा है। राजनीतिक दलों तथा सरकारों की लगातार उपेक्षा के चलते हाल के दशकों में ब्राह्मण समाज लगातार कमजोर हुआ है। अगर हम अभी भी न जागे तो आने वाला समय हमे कभी मांफ नहीं करेगा।
इससे पहले आज सुबह 10 बजे कार्यक्रम के पहले चरण में ज्योतिष शोध संस्थान, सप्त सरोवर कालोनी से श्री राम कथा पार्क तक चरण-पादुका शोभा यात्रा निकाली गई। जिसमे रंग-बिरंगों कपड़ों में बच्चों की अगुवाई में अयोध्या के विभिन्न मार्गो से चरण पादुका शोभा यात्रा गुजरी। इस मनोरम पलों का अयोध्या की लाखों आंखे गवाह बनी। इसके बाद अनंत्श्रीविभूषित श्रीगोवर्धनमठ पुरीपीठाधीश्वर श्रीमज्जगद्गुरु पुरीशङ्कराचार्य का माल्यार्पण, पूजन-वंदन होगा।
कार्यक्रम के दूसरे सत्र में अयोध्या समेत अन्य सभी प्रमुख धर्मस्थलियों से पधारे धर्माचार्यों का स्वागत वंदन अभिनन्दन किया गया और ब्रह्मसागर संगठन के भविष्य के कार्ययोजना पर मंथन हुआ। अनंतश्रीविभूषित श्रीगोवर्धनमठ पुरीपीठाधीश्वर श्रीमज्जगद्गुरु पुरीशङ्कराचार्य ने अपने आशीर्वचन के बाद आये लोगों को और अंग वस्त्रम प्रदान कर सम्मानित किया।

मंथन शिविर में डॉ अनीता मिश्रा, राष्ट्रीय अध्यक्ष विश्व ब्राह्मण महासभा राजस्थान, डॉ गार्गी तिवारी, राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वाभिमान मंच लखनऊ, बृजेश कुमार शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष विश्व ब्राह्मण सभा, डॉ मंजू शुक्ला राष्ट्रीय अध्यक्ष ब्राह्मण महासभा गोरखपुर, नानक चंद शर्मा अध्यक्ष ब्राह्मण महासभा गाजियाबाद, आचार्य राधेश्याम मिश्रा महामंत्री अखिल भारतीय चाणक्य परिषद, पंडित राहुल तिवारी राष्ट्रवादी ब्राह्मण समाज, राजेंद्र पांडे प्रयागराज, श्री अखिल भारतीय सरयू पारी ब्राह्मण महासभा और डॉ अशोक त्रिपाठी, ब्राह्मण शिरोमणि शिविर में उपस्थित रहे।

विदित हो कि ब्रहम सागर पूरी तरह गैर राजनीतिक संगठन है जो सभी धर्मो तथा राजनीतिक संगठनों का सम्मान करता है। संगठन का मुख्य मकसद टुकड़ों में बिखरी समाज की ताकत को एकजुट करके उसे सामाजिक न्याय दिलाने के साथ-साथ समाज को कमजोर वर्ग की मदद करके उसे आगे बढ़ाना है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Cricket live Update

- Advertisment -spot_imgspot_img
- Advertisment -spot_imgspot_img

Most Popular