Thursday, December 9, 2021
spot_imgspot_img
Homeदेशसख्ती: सरहद से 50 किमी तक बीएसएफ कर सकेगी गिरफ्तारी, आतंकवाद व...

सख्ती: सरहद से 50 किमी तक बीएसएफ कर सकेगी गिरफ्तारी, आतंकवाद व क्रॉस बॉर्डर क्राइम पर लगेगी रोक, बीएसएफ की ‘पावर’ बढ़ी

जन एक्सप्रेस/नई दिल्ली
सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकारियों के पास अब पाकिस्तान और बांग्लादेश के साथ अंतरराष्ट्रीय सीमाओं को साझा करने वाले तीन नए राज्यों (असम, पश्चिम बंगाल और पंजाब) के अंदर 50 किमी की सीमा तक गिरफ्तारी, तलाशी और जब्ती करने की शक्ति होगी। गृह मंत्रालय (एमएचए) का दावा है कि सीमा पार से हाल ही में ड्रोन गिराए जाने ने बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र में इस विस्तार को प्रेरित किया है। हालांकि, यह कदम राज्य की स्वायत्तता पर बहस को तेज कर दिया है। पंजाब के मुख्यमंत्री पहले ही इसका विरोध कर चुके हैं। चरणजीत सिंह चन्नी कहा, ‘मैं अंतरराष्ट्रीय सीमाओं से लगे 50 किलोमीटर के दायरे में बीएसएफ को अतिरिक्त अधिकार देने के सरकार के एकतरफा फैसले की कड़ी निंदा करता हूं, जो संघवाद पर सीधा हमला है। मैं केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से इस तर्कहीन फैसले को तुरंत वापस लेने का आग्रह करता हूं।

इस फैसले के बाद राजनीति क्यों गरमा गई है?

  • देश के संघीय ढांचे में कानून और व्यवस्था राज्य का विषय है और इस पर राज्य कानून बना सकते हैं। इसी आधार पर राज्य इस बदलाव का विरोध कर रहे हैं।
  • पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा है कि ये पंजाब के साथ धोखा है। इस फैसले के बाद आधे से ज्यादा पंजाब क्चस्स्न के बहाने केंद्र सरकार के कंट्रोल में चला जाएगा।
  • कैप्टन अमरिंदर सिंह केंद्र के फैसले के पक्ष में हैं। कैप्टन ने कहा कि बीएसएफ का दायरा बढ़ाने के फैसले की तारीफ होनी चाहिए। जिस तरह पंजाब में ड्रग तस्करी और आतंक का खतरा बढ़ रहा है, अब इस फैसले से पंजाब सुरक्षित रहेगा।
  • पश्चिम बंगाल के परिवहन मंत्री और टीएमसी नेता फिरहाद हकीम ने कहा कि केंद्र सरकार देश के संघीय ढांचे का उल्लंघन कर रही है। कानून और व्यवस्था राज्य का विषय है, लेकिन केंद्र सरकार केंद्रीय एजेंसियों के जरिए हस्तक्षेप करने की कोशिश कर रही है।

ड्रोन से हेरोइन और हथियारों की तस्करी

जमीनी हकीकत यह भी है कि पंजाब में जितनी बड़ी खेप हेरोइन की पंजाब पुलिस ने बरामद की है, उनके प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से तार सीमावर्ती गांवों के लोगों से जुड़े हैं। 2020 में पंजाब सीमा पर 506.241 किलोग्राम हेरोइन जब्त की गई, जबकि 2019 में 232.561 किलो हेरोइन जब्त हुई। इसके अलावा 2021 में 31 मई तक 241.231 किलोग्राम हेरोइन बरामद हो चुकी है। यह भी खतरे की घंटी है कि ड्रोन से सीमावर्ती गांवों में हथियार व ड्रग पहुंचाया जा रहा है।

  • सितंबर 2019: खेमकरण में एके टाइप की पांच राइफलें, 150 कारतूस, सात पिस्तौल ड्रोन ने गिराए गए, जो पुलिस ने बरामद कर लिए। यह ड्रोन ओवरलोडिंग के कारण क्रैश हो गया था
  • दिसंबर 2020: बीएसएफ ने कोट रजादा में 70 राउंड फायरिंग की लेकिन ड्रोन हथियार गिराकर वापस लौट गया।
  • 22 दिसंबर 2020: गुरदासपुर में पाक ड्रोन ने 11 ग्रेनेड गिराए, जो सुरक्षा एजेंसियों ने बरामद किए
  • 22 फरवरी 2021: गुरदासपुर सेक्टर में बीएसएफ ने पाक ड्रोन पर फायरिंग की थी
  • 18 जून 2021: पाक से ड्रोन के माध्यम से भेजे गए 50 पिस्तौल स्टेट स्पेशल ऑपरेशन सेल ने बरामद किए
  • आठ अगस्त 2021: पुलिस ने ड्रोन से गिराए टिफिन बम, ढाई किलोग्राम आरडीएक्स, पांच ग्रेनेड और सौ कारतूस बरामद किए।

गुजरात में कम किए अधिकार क्षेत्र

हालांकि, इसके साथ ही गुजरात में बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र को कम कर दिया गया है और एकरूपता लाने के लिए सीमा की सीमा 80 किमी से घटाकर 50 किमी कर दी गई है, जबकि राजस्थान में त्रिज्या क्षेत्र को पहले की तरह 50 किमी रखा गया है। पांच पूर्वोत्तर राज्यों मेघालय, नागालैंड, मिजोरम, त्रिपुरा और मणिपुर के लिए कोई सीमा निर्धारित नहीं की गई है। इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में कोई सीमा निर्धारित नहीं है। अधिकारियों का दावा है कि इन राज्यों में बीएसएफ को आंतरिक सुरक्षा ड्यूटी पर तैनात किया गया है, इसलिए वे उसी के मुताबिक काम करते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Cricket live Update

- Advertisment -spot_imgspot_img
- Advertisment -spot_imgspot_img

Most Popular