उत्तराखंड

नैनीताल में लगातार चौथे दिन हो रही है बारिश, लोगों से नदी-नालों से दूर रहने की अपील

Listen to this article

नैनीताल। मानसून के आगमन के साथ पहाड़ों पर इस पूरे सप्ताह बारिश हुई है। खासकर पिछले गुरुवार की शाम से यानी पिछले चार दिनों से लगातार बारिश हो रही है। रविवार को मौसम विभाग के साथ जिला प्रशासन ने भारी से बहुत बारिश होने की चेतावनी दी है।

जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश दिये हैं। नैनीताल पुलिस ने लोगों से नदी-नालों से दूर रहने एवं अनावश्यक यात्रा नहीं करने की अपील की है।

बारिश के कारण रामनगर से रानीखेत को जोड़ने वाला अल्मोड़ा जनपद में स्थित मोहान पुल बह गया है। इससे यह मार्ग अवरुद्ध हो गया। दूसरी ओर भवाली से क्वारब के बीच मार्ग पर गरमपानी से पहले मेंढक पत्थर के पास लगातार पहाड़ी से पत्थर आने के कारण वाहनों का आवागमन रोक दिया गया है। वाहनों को रामगढ़ के रास्ते भेजा जा रहा है। इस कारण भवाली की ओर से भी रानीखेत जाना मुश्किल हो गया है। रानीखेत जाने के लिये लोगों को अब अल्मोड़ा की ओर से जाना पड़ेगा। अल्मोड़ा जाने वालों को भी अतिरिक्त दूरी तय करनी पड़ रही है।

इधर, नैनीताल को आने वाले मार्ग फिलहाल तो खुले हैं, लेकिन बीती रात्रि हल्द्वानी मार्ग पर दोगांव से आगे भेड़िया पखांण और ज्योलीकोट के निकट नलेना के पास व नैना गांव के निकट हनुमान मंदिर के पास पहाड़ी से मलबा आता रहा। इसे हटाकर मार्ग खोला गया है। इसके अलावा जनपद में 5 राज्य मार्ग, 3 प्रमुख जिला मार्ग एवं 25 ग्रामीण मार्ग बारिश के कारण मलबा आने से बंद हो गये हैं। इनमें भवाली-धानाचूली-ओखलकांडा, शहीद बलवंत सिंह मार्ग, भवाली-काफली-धानाचूली, गर्जिया-बेतालघाट व रामनगर-भंडारपानी राज्य मार्ग एवं भुजान-बेतालघाट, लमजाला व घुघुखान-सौड़ प्रमुख जिला मार्ग भी शामिल हैं।

पुलिस ने रामनगर में कोसी नदी का जल स्तर बढ़ने के कारण नदी किनारे रह रहे लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया है। इसी तरह हल्द्वानी-काठगोदाम में भी कलसिया व रकसिया नालों के उफनने के कारण पुलिस ने लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने को कहा है। गौला नदी में काठगोदाम स्थित बैराज से 20,700 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। इसके दृष्टिगत गौला नदी से सटे हुए शांतिपुरी इलाके तक लोगों को सतर्क रहने के निर्देश दिये गये हैं।

बारिश की बात करें जो जिला मुख्यालय नैनीताल में सर्वाधिक 134 मिलीमीटर, धारी में 105, कोश्या कुटौली में 114 बेतालघाट में 90, कालाढुंगी में 113, रामनगर में 29.2, मुक्तेश्वर में 55.2 एवं चोरगलिया में 67 मिमी बारिश हुई है।

सोमवार से खुल सकता है मौसम

मौसम विभाग के अनुसार बारिश का सिलसिला सोमवार से रूक सकता है। खासकर सोमवार और मंगलवार को प्रदेश के दो मैदानी जिलों हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर में मौसम विभाग की कोई चेतावनी नहीं दी गयी है और इन जिलों को हरे रंग में रखा गया है जबकि अन्य सभी जनपदों को लाल व नारंगी रंग से पीले रंग में ले आया गया है। अलबत्ता यहां कहीं-कहीं गर्जन के साथ आकाशीय बिजली चमकने व बारिश के तीव्र से अति तीव्र दौर चलने की बात कही गयी है।

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button