Saturday, January 29, 2022
spot_imgspot_img
Homeशिक्षा-रोज़गारघर पर पढ़ाई कर क्लियर करना चाहते है यूपीएससी एग्जाम, इस प्‍लान...

घर पर पढ़ाई कर क्लियर करना चाहते है यूपीएससी एग्जाम, इस प्‍लान और स्ट्रेटजी को कर सकते हैं फॉलो

 

आईएएस या पीसीएस बनने का सपना हर किसी का होता है। हालांकि यह सपना देखने वाले छात्र अक्सर सोचते हैं कि उनका यह सपना घर में रहकर पूरा नहीं हो सकता है। छात्रों के मन में यह डर होता है कि वे घर पर सिविल सर्विस (सीएस) के एग्जाम की तैयारी कैसे शुरू करें। आज हम आपको ऐसे प्लान की जानकारी देने जा रहे हैं, जिसे यूपीएससी क्रैक करने वाले ज्यादातर उम्‍मीदवारों ने घर पर रहकर फालो किया था। अगर आप भी इस प्‍लान को फॉलो करेंगे तो आपको किसी कोचिंग क्लास में जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

अपनी उम्र और योग्यता जानें
इस परीक्षा के लिए आपकी उम्र बहुत अहमियत रखती है। यूपीएससी के डेटा के मुताबिक, सीएस एग्जाम क्लियर करने वाले ज्यादातर कैंडिडेट्स 23-28 साल के होते हैं। आप इसी उम्र के आसपास तैयारी शुरू कर सकते हैं। अगर कोई 15 साल की उम्र से ही तैयारी शुरू कर दे, तो यह बहुत जल्दी होगी। आमतौर पर जब आप ग्रेजुएशन के फाइनल ईयर में होते हैं तो 20-22 साल की उम्र में तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

एग्जाम की बेसिक्स को जानें
अपनी तैयारी को शुरू करने से पहले कुछ बेसिक जानकारी जानना जरूरी है। जैसे सिविल सर्विसेज एग्जाम क्या होता है, इसके लिए योग्यता क्या है और कैसा सिलेबस होता है। बेसिक्स क्लियर होने के बाद आप सही से रणनीति बना सकते हैं। आईएएस प्रीलिम्स और मेन्स एग्जाम की तैयारी में फर्क होता है। प्रीलिम्स के लिए आपको बहुत सारी जानकारी चाहिए होगी लेकिन गहराई से नहीं। लेकिन मेन्स के लिए आपको किसी भी टॉपिक की बहुत गहराई तक जानकारी होनी चाहिए।

सही किताबों का चुनाव करें
अपनी तैयारी के लिए सही किताबों का चुनाव करना बहुत जरूरी है। आपको उन किताबों का अध्ययन करना चाहिए जो टॉप क्‍लास हों। आपको इन किताबों को दो बार पढ़ना चाहिए। पहली बार में तो एक-एक करके सारे चैप्टर पढ़ जाएं। दोबारा में सिर्फ अहम चैप्टरों को पढ़ें। अगर आप प्रीलिम्स या मेन्स से पहले इन किताबों का एक बार फिर अध्ययन कर लें तो काफी अच्छा होगा।

डेली न्यूजपेपर और मैगजीन जरूर पढ़ें
अगर आपको मालूम नहीं हैं तो जान लें कि सिविल सर्विसेज के एग्जाम में करंट अफेयर्स और जनरल अवेयरनेस काफी मायने रखता है। पेपर 1 में करंट अफेयर्स और जनरल अवेयरनेस से कम से कम 30-40 सवाल आते हैं। इन चीजों को कवर करने के लिए आपको रोजाना अच्छे समाचार पत्र और मैगजीन का अध्ययन करना चाहिए।

एग्जाम क्रैक करने के लिए इस तरह बनाएं अपना शेड्यूल

-5:00 बजे, सुबह – उठें और फ्रेश हो जाएं।
-5:15 से 6:15 बजे तक का समय- इस समय के दौरान योग, व्यायाम या तेज कदमों से टहलने जैसी शारीरिक गतिविधि करें। ध्यान और योग से आपके दिमाग को आराम मिलेगा, तनाव दूर होगा और यह आपके मन को आने वाले कठिन समय के लिए तैयार करेगा।
-6:15 से 6:30 तक- स्नान व जरूरी व्यक्तिगत काम करें। 6:30 से 7:30 तक- इस समय के दौरान पिछले दिन पढ़े गए विषयों की पुनरावृत्ति करें। यह पिछले दिन पढ़े गए विषयों के मूल्यांकन में मदद करेगा।
-7:30 से 8:00 बजे तक- इस समय में लिया गया नाश्ता आपको पूरे दिन के लिए ऊर्जा प्रदान करेगा। इस समय अखबार पढ़ने से आपको राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय घटनाओं के बारे में अपडेट होने में मदद मिलेगी। यही समय होता हे जब आप करेंट अफेयर्स के अपने नोट्स बना सकते हैं।
-8:00 से 10:30 बजे तक- यह समय होता है पढ़ाई करने का। इस समय आप कोचिंग या खुद पढ़ाई कर सकते हैं, लेकिन इस समय सबसे कठिन विषय की पढ़ाई करें क्योंकि सुबह के समय दिमाग अपनी पूरी क्षमता के साथ काम करता है।
-10:30 से 11:30 बजे तक- अगर आपने 2.30 घंटे लगातार पढ़ाई की है तो आपके दिमाग को आराम की जरूरत पड़ेगी। इसलिए, आप करीब 1 घंटे अपने आप को आराम दें और अपने मस्तिष्क और शरीर को तरोताजा करें।
-11:30 बजे सुबह से दोपहर 1:00 बजे तक- इस समय आप उन सब्जेक्टिव विषयों पर फोकस करें, जो आपको आज के दिन कवर करना है।यह वो समय होता है जब आप और आपका दिमाग पूरी तरह से अध्ययन के लिए तैयार होता है। इसलिए दूसरे सत्र में अवधारणात्मक विषयों पर पकड़न बनाना आपके लिए आसान हो सकता है।
-1:00 बजे से 1:30 बजे- इस समयावधि में आप लंच कर सकते हैं। अपने खाने में प्रोटीन की प्रचुरता वाले खाद्य पदार्थों को शामिल करें। यह आपके लिए पूरे दिन निरंतर ऊर्जा के स्रोत की तरह काम करेगा।
-1:30 बजे से 4:00 बजे- यह आपके दिन का अध्ययन सत्र III होगा, जो काफी लंबा हो सकता है। अगर आप चाहे तो आंधे घंटे आराम कर सकते हैं और इस सत्र को 2 घंटे का कर सकते हैं। इस समय में उन विषयों को पढ़ें जिन पर अधिक मेहनत करने की जरूरत है। ऐसे विषय, संदर्भ पुस्तकों या विशेषज्ञों के परामर्श से अच्छी तरह समझे जा सकते हैं और इनके लिए समय की आवश्यकता होगी।
-शाम 4:00 बजे से 4:30 बजे- इस समय के दौरान अपने दिमाग को आराम देने के लिए ब्रेक लें और हल्के खाने के साथ चाय पी सकते हैं। आप चाहें तो इस दौरान कुछ व्यायाम भी कर सकते हैं।
-4:30 बजे से शाम 5:30 बजे- इस एक घंटे में आप अपने व्यक्तित्व एवं कौशल विकास गतिविधियों जैसे बहस, समूह चर्चा और ऐसी ही अन्य गतिविधियों में ध्‍यान दें। इससे आपको अंतरवैयक्तिक संचार कौशलों में महत्वपूर्ण सुधार के साथ अलग-अलग विषयों के बारे में अलग-अलग दृष्टिकोण जानने में मदद मिलेगी।
-5:30 से शाम 6:30 बजे तक- इस समय को आप अपने खेल जैसे दौड़ना, जॉगिंग या ऐसा कोई भी खेल जो आप पसंद करते हों, उसके लिए रखें। इस दौरान महत्वपूर्ण यह है कि आप अपने शरीर व दिमाग को एक्टिव रखें।
-6:30 से रात्रि 8:30 बजे तक- यह आपके पढ़ाई का आईवी सत्र है। इस दौरान आप उन विषयों को पढ़े जो आपको पसंद है।
-8:30 बजे से रात्रि 9:00 बजे तक- इस समय पढ़ाई बंद कर रात का भोजन करें। रात्रि में कार्बोहाइड्रेट्स खाने से बचें, क्योंकि यह आपको काफी भारीपन महसूस कराएगा। अपने रात के खाने में फल और हरी सब्जियों को शामिल करें।
-9:00 बजे से 10:00 बजे तक- इस समय आप हल्की पढ़ाई करें। आप समय कोई अच्छा न्‍यूज चैनल देख सकते हैं, जहां पैनल चर्चा या डिबेट हो रहा हो। यह आपको सभी अनिवार्य तथ्यों एवं आंकड़ों के साथ दिन के प्रमुख समाचारों का गहनता से विश्लेषण प्रदान करेगा।
-10:00 बजे से 10:30 बजे तक- आप अपने पूरे दिन का नोट्स तैयार करें और अलगे दिन का प्‍लान तैयार करें। इस समय सोशल मीडिया को भी दे सकते हैं। इसके बाद आप सो जाएं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Cricket live Update

- Advertisment -spot_imgspot_img
- Advertisment -spot_imgspot_img

Most Popular